LOADING

Type to search

इंडिया में भी लगे महिलाओं के ‘बुर्के’ पर प्रतिबंध

देश वूमेन स्पेशल

इंडिया में भी लगे महिलाओं के ‘बुर्के’ पर प्रतिबंध

Share

—राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बहुत बडा खतरा है बुर्का

–उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री ठाकुर रघुराज सिंह ने विवादित बयान दिया
—देश में भी प्रतिबंधित होना चाहिए ताकि आतंकवादी इसका फायदा ना उठा पायें
—बुर्का श्रीलंका, चीन, अमेरिका और कनाडा में इस्तेमाल नहीं होता

अलीगढ़/ टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के एक नेता एवं राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त ने सोमवार को बुर्के पर प्रतिबंध की मांग करके नया विवाद उत्पन्न कर दिया। उनका कहना है कि बुर्का राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) के लिए खतरा है। रघुराज सिंह ने कहा कि देश में बुर्के पर प्रतिबंध लगना चाहिए जैसा अन्य कई देशों में है। सिंह हाल ही में इस बयान को लेकर सुॢखयों में आये थे, जब उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारेबाजी करने वाले एएमयू के छात्रों को कथित तौर पर जिन्दा दफन करने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि मेरा स्पष्ट मानना है कि बुर्का श्रीलंका, चीन, अमेरिका और कनाडा में इस्तेमाल नहीं होता। इसे हमारे देश में भी प्रतिबंधित होना चाहिए ताकि आतंकवादी इसका फायदा ना उठा पायें।

शाहीनबाग में लोग बुर्का पहनकर बैठे हैं। बुर्का आतंकवादियों, चोरों और असामाजिक तत्वों को छिपने में मदद करता है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए। सिंह ने बुर्के की उत्पत्ति समझाते हुए कहा, यह रामायण की शूर्पणखा से निकला। जब उसके नाक कान काटे गये तो वह अरब भाग गयी जहां छिपने के लिए रेगिस्तान था। चूंकि उसके नाक कान कट गये थे, इसलिए उसने बुर्के से अपना चेहरा छिपाया। बुर्का मानव के लिए आवश्यक नहीं है। भाजपा के जिला प्रवक्ता निशांत शर्मा ने बताया कि सिंह को राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त है।

मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने पर उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री ठाकुर रघुराज सिंह ने विवादित बयान दिया है। उत्तर प्रदेश के श्रम एवं कर्मकार सन्निर्माण समिति के अध्यक्ष रघुराज सिंह विवादित बयान से एक बार फिर चर्चाओं में हैं। नौरंगाबाद में ब्राह्मण जागृति मंच की ओर से आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मुस्लिम महिलाओं को बुर्का की जरूरत नहीं है। देश में बुर्का पर प्रतिबंध लगना चाहिए। बुर्का की आड़ में ही तमाम घटनाएं हो रही हैं। पिछले दिनों अलीगढ़ में भी शाहजमाल में सीएए के विरोध में धरना दे रही महिलाओं के बीच में एएमयू का एक पूर्व छात्र घुस गया था। ऐसे में कभी भी कोई बड़ी घटना हो सकती है। रघुराज ने कहा कि चीन में पिछले साल आतंकी हमले के बाद बुर्का पर रोक लगा दी गई थी।

बुर्के के वेश में आतंकवादी हमारे देश में घुस जाते हैं। इसका इस्तेमाल आतंकवादी करते हैं। जब सब खुले में रहेंगे तो पहचानने में आसानी होगी कि कौन आतंकी है और कौन नहीं। लिहाजा इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए। रघुराज सिंह ने कहा कि बुर्का पहनने की प्रथा तो अरब से भारत आई है। इसकी आड़ में मुस्लिम महिलाएं अपना चेहरा छिपाती हैं। श्रीलंका में बुर्के पर प्रतिबंध लगा हुआ है। वहां पर किसी को भी बुर्का देखते ही शूट करने का आदेश है। यह वहां के राष्ट्रपति का आदेश है।

रघुराज सिंह ने कहा कि श्रीलंका में भी बुर्का पर प्रतिबंध 

उन्होंने कहा कि बुर्के को लेकर मेरी स्पष्ट राय और सोच है कि इस देश में बुर्का इसलिए नहीं होना चाहिए, जैसे श्रीलंका में नहीं है, चीन में नहीं है, जापान में नहीं है, अमेरिका में नहीं है, कनाडा में नहीं है। हमारे देश में बुर्का इसलिए बैन होना चाहिए, जिससे कि आतंकवादी यहां न आ सकें। उन्होंने आगे कहा कि जैसे शाहीन बाग में लोग बैठे हैं बुर्के में, यहां भी एक छोटा-सा शाहीन बाग बनाया है। यहां भी बुर्के में यूनिवर्सिटी के छात्र बैठे हैं। बुर्के में चोर-चकारों को एक आड़ मिल जाती है। बदमाशों को आड़ मिल जाती है। आतंकवादियों को आड़ मिल जाती है। उस आड़ को खत्म करने के लिए बुर्का यहां पर, भारतवर्ष में बैन होना चाहिए।

बुर्का का चलन रामायण की बहन शूर्पणखा से हुआ शुरू

भाजपा नेता ने त्रेता युग का उदाहारण देते हुए कहा कि लक्ष्मण जी ने शूर्पणखा के नाक व कान काटे थे तो उन्होंने अपने चेहरे को ढक लिया था। भारत में बुर्का को बैन करने की सरकार से मांग की है और कहा कि लक्ष्मण जी ने जब रावण की बहन शूर्पणखा के कान और नाक काटे तो उन्होंने बुर्का पहनना शुरू कर दिया। जिससे उनका चेहरा ढका रहे। मुस्लिम महिलाएं बुर्का पहनती हैं, क्योंकि वह दैत्यों के वंशज हैं। दैत्यों के वंशज ही बुर्का पहन सकते हैं, आम आदमी बुर्का नहीं पहनेगा। केवल राक्षसों के वंशज ही बुर्का पहन सकते हैं। कोई भी सामान्य व्यक्ति बुर्का नहीं पहन सकता। हमें इसको लेकर काफी एकजुट होना होगा। रघुराज के बयान से सियासी घमासान मचना शुरू हो गया है। बसपा, सपा समेत सभी विरोधी पार्टियों के नेता इसका विरोध कर रहे हैं।

PM मोदी को डंडे मारेगा, हम उन्हें जूते से मारेंगे

ठाकुर रघुराज सिंह ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के पीएम मोदी को डंडे से मारने वाले बयान पर कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ देश के आइकॉन हैं, जो उन्हें डंडे से मारेगा, हम उन्हें जूते से मारेंगे। राहुल गांधी ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्हेंने अपने भाषण में पीएम मोदी को देश के युवाओं के द्वारा डंडा मारने की बात कही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बयानबाजी करने वालों को रघुराज सिंह ने नसीहत दिया कि अगर कोई डंडे से मारने की बात करेगा तो हम उसे जूतों से मारेंगे, छोड़ेंगे नहीं। इससे पहले भी रघुराज सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे लगाने वाले उन्होंने जिंदा दफनाने की धमकी तक दे डाली थी। उन्होंने कहा था कि यदि आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे लगाते हैं, तो मैं तुम्हें जिंदा दफना दूंगा।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *