LOADING

Type to search

दिल्ली में फिर निर्भया कांड, मासूम बच्ची से हैवानियत

दिल्ली वूमेन स्पेशल

दिल्ली में फिर निर्भया कांड, मासूम बच्ची से हैवानियत

Share

—बच्ची को मरा समझकर दरिंदे फरार,हालात नाजुक, एम्स में भर्ती  
—हैवानों ने 12 साल की बच्ची को अपना शिकार बनाया
—मासूम के साथ उस वक्त तक दरिंदगी जारी रखी, जब तक वह लहूलुहान नहीं हो गई

नई दिल्ली /टीम डिजिटल: निर्भया केस के बाद एक बार फिर दिल्ली शर्मसार हो गई। इस बार हैवानों ने 12 साल की बच्ची को अपना शिकार बनाया है, वारदात मंगलवार की है। दरिंदों ने मासूम के साथ उस वक्त तक दरिंदगी जारी रखी, जब तक वह लहूलुहान नहीं हो गई। मासूम को मरा सोचकर दरिंदे फरार हो गए। दरअसल, निर्भया केस के दोषियों को सजा मिलने के बाद लोगों के दिल में उम्मीद जगी थी कि महिलाओं और बच्चियों के खिलाफ रेप जैसे जघन्य अपराधों में कमी आएगी, मगर दिल्ली की इस घटना ने एक बार फिर महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया है। पश्चिमी दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके में 12 साल की एक बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न और हैवानियत की गई है। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि घटना मंगलवार की है और पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई गई है।

पीड़िता के शरीर पर चोट के निशान हैं। आरोपी का पता लगाने के लिए पुलिस पड़ोसियों से पूछताछ करने के साथ ही आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस ने कहा कि उन्हें घटना की सूचना मंगलवार शाम को मिली। पड़ोसियों ने पीड़िता को खून से लथपथ देखने के बाद पुलिस और उसके माता-पिता को सूचना दी। पीड़िता को पास के ही एक अस्पताल ले जाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे एम्स के लिए रेफर किया गया। पुलिस ने संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया । पुलिस उपायुक्त (बाहरी दिल्ली) ए कोआं ने कहा, हमें पश्चिम विहार वेस्ट पुलिस थाने में मंगलवार शाम को नाबालिग लड़की के उत्पीड़न की सूचना मिली थी। इस मामले में धारा 307 (हत्या का प्रयास) और पोक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है और आगे की जांच की जा रही है।
बताते हैं कि काफी देर तक बेसुध हालत में कमरे में सिसकती रही। उसके बाद जैसे-तैसे वह कमरे से घिसटते हुए बाहर आई और पड़ोसी के दरवाजे को खटखटाकर इशारे से खुद की हालत बयां करते हुए फिर से बेहोश हो गई। उसके निजी अंगों से लगातार खून बह रहा था। बच्ची की हालत देखकर पड़ोसी भी डर गए। तुरंत ही मामले की सूचना पुलिस को दी। इस बीच जॉइंट सीपी (वेस्टर्न रेंज) शालिनी सिंह ने गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपी की पहचान कृष्णा (33) के तौर पर हुई है। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि रही है। इससे पहले वह हत्या, हत्या की कोशिश और सेंधमारी के मामलों में गिरफ्तार हो चुका है।

बिहार का रहने वाला है मासूम का परिवार

बच्ची परिवार के साथ पीरागढ़ी में किराए पर रहती है। परिवार मूल रूप से बिहार का रहने वाला है। जिस कमरे में परिवार रहता है, वह बिल्डिंग तीन मंजिल की है, जिसमें छोटे-छोटे करीब 25 कमरे बने हुए हैं। इनमें अधिकतर आसपास की फैक्ट्रियों में लेबर का काम करते हैं। बच्ची के परिवार में माता-पिता और एक बड़ी बहन है। माता-पिता फैक्ट्री में लेबर हैं। बड़ी बहन भी काम करती है। लगभग रोजाना वह बच्ची अपने कमरे में अकेली रहती है।

बच्ची की हालत नाजुक, 24 घंटे अहम

एम्स में बच्ची की हालत स्थिर बनी हुई है। सूत्रों के मुताबिक, डॉक्टरी जांच में निजी अंगों में चोट भी है। पड़ोसियों ने उसके माता-पिता को हादसे की जानकारी दी। डाक्टरों ने कहा है कि आने वाले 24 से 48 घंटे अहम है।

सांसद गंभीर ने दोषियों के लिएं मांगी मौत की सजा

बीजेपी नेता और सांसद गौतम गंभीर ने 12 साल की मासूम के साथ हुई दरिंदगी के खिलाफ रोष प्रकट करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है कि जिन लोगों ने 12 साल की बच्ची के साथ हैवानियत की है, उनके के लिए मौत से कम कोई सजा नहीं है। उन्होंने पीड़िता के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। साथ ही पीड़िता को जल्द न्याय मिलने की गुहार भी लगाई है।

स्वाति मालीवाल ने पुलिस की भूमिका पर उठाए सवाल

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दो दिन पहले पश्चिम दिल्ली में एक लड़की के साथ कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी में कथित देरी को लेकर पुलिस पर सवाल उठाए। पुलिस ने बताया था कि 12 वर्षीय लड़की पर मंगलवार शाम विहार इलाके में उसके घर पर किसी धारदार हथियार से हमला किया गया था । मालीवाल ने गुरुवार को एम्स में लड़की से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि लड़की की हालत बहुत गंभीर थी और डॉक्टर कह रहे थे कि उन्हें यकीन नहीं था कि वह बच पाएगी या नहीं।

केजरीवाल बोले- ऐसी हैवानियत कि बता नहीं सकता

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पश्चिम विहार वेस्ट के पीरागढ़ी इलाके में हैवानियर का शिकार हुई 13 साल की मासूम को देखने एम्स पहुंचे। इस दौरान उन्होंने डाक्टरों की टीम से बच्ची की हालात के बारे में पूछा, साथ ही परिवार वालों को हर संभव मदद का भरोसा देते हुए 10 लाख रुपये की ऐलान किया। केजरीवाल ने बताया कि मासूम की हालत काफी गंभीर बनी हुई है। आने वाले 48 घंटे उसके लिए काफी अहम है।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *