LOADING

Type to search

इंतजार खत्म, तीन स्टेज में शुरू होगी दिल्ली मेट्रो

दिल्ली देश

इंतजार खत्म, तीन स्टेज में शुरू होगी दिल्ली मेट्रो

Share

—केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एसओपी दिशा-निर्देशों को जारी किया
—मेट्रो कर्मचारियों और यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य

(नीता बुधौलिया)
नई दिल्ली /टीम डिजिटल : कोविड के चलते हुए लॉकडाउन में पांच महीने से थमी मेट्रो सेवा सोमवार से एक बार फिर पटरी पर दौड़ने को तैयार है। लोगों को जहां एक ओर कड़ी सुरक्षा जांच के बीच गुजरना पड़ेगा, वहीं स्मार्ट कार्ड होने पर ही वे सफर कर सकेंगे। दिल्ली मेट्रो को लाइन वाइज शुरू किया जाएगा। इसके अलावा अलग-अलग स्टेज में धीरे-धीरे मेट्रो का परिचालन पूरी तरह से शुरू होगा। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), हरदीप सिंह पुरी ने आज मीडिया से बातचीत के दौरान, मेट्रो संचालन के लिए एसओपी दिशा-निर्देशों को जारी किया। मेट्रो सेवाएं 7 सितंबर से क्रमबद्धरूप से पुनः शुरू की जाएगी। इसके लिए आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा एसओपी दिशा-निर्देशों को तैयार किया गया, जिसे गृह मंत्रालय द्वारा सहमति प्रदान कर दी गई है।

पहले स्टेज में मेट्रो सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को 4 बजे से 8 बजे तक चलेगी। पहले स्टेज के पहले फेज में रेपिड मेट्रो और लाइन-2 (येलो लाइन) को 7 सितंबर से शुरू किया जाएगा। फेज 2 में 9 सितंबर से लाइन 3 (ब्लू लाइन- द्वारका सेक्टर 21 से नोएडा इलेक्ट्रोनिक सिटी), लाइन 4 (ब्लू लाइन- आनंद विहार से वैशाली) और लाइन 7 (पिंक लाइन) शुरू की जाएंगी। स्टेज-1 के तीसरे फेज में 10 सितंबर से लाइन 1 (रेड लाइन), लाइन 5 (ग्रीन लाइन) और लाइन 6 (वॉयलेट लाइन) को शुरू किया जाएगा।

स्टेज-2 में 11 सितंबर से मेट्रो सुबह 7 बजे से दोपहर 11 बजे तक, और शाम 4 बजे से 10 बजे तक चलेगी। स्टेज-2 में लाइन-8 (मजेंटा लाइन) और लाइन-9 (ग्रे लाइन) को भी खोल दिया जाएगा। वहीं स्टेज-3, 12 सितंबर से लागू होगा, जिसमें दिल्ली मेट्रो सुबह 6 बजे से रात 11 बजे तक चलेगी। इस दौरान एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन को भी शुरू कर दिया जाएगा।

मेट्रो की यात्रा में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन हो, इसके लिए स्टैंडर्ड ऑपरेशनल प्रोसीजर तैयार किया गया है। सभी यात्रियों के लिए मास्क अनिवार्य होगा। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए स्टेशन, प्लेटफॉर्म और ट्रेन के अंदर निशान बनाए गए होंगे। यात्रियों को जेब में भी सैनिटाइजर रखने की सलाह दी गई है। साथ ही कंटेनमेंट जोन्स में स्थित मेट्रो स्टेशनों पर एन्ट्री और एग्जिट गेट बंद रहेंगे। इसके अलावा दिल्ली मेट्रो में सिर्फ स्मार्ट कार्ड ही चलेगा और कैशलेस तरीके से स्मार्ट कार्ड को रीचार्ज कराया जा सकेगा। यात्रियों और कर्मचारियों के लिए सूचना, शिक्षा और संचार (आईईसी) का प्रसार करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक/ प्रिंट/ सोशल मीडिया, पोस्टर, बैनर, होर्डिंग, वेबसाइट आदि के माध्यम से अभियान की शुरूआत की जानी चाहिए। स्टेशनों पर पर्याप्त समय उपलब्ध कराया जाना चाहिए जिससेसामाजिक दूरी को सुनिश्चित करते हुए सुचारू रूप से चढ़ना-उतरना सुनिश्चित किया जा सके। मेट्रो रेल निगम उचित सामाजिक दूरी को सुनिश्चित करने के लिए स्टेशनों को छोड़कर आगे बढ़ने का भी सहारा ले सकते हैं।

बैंगलोर, चेन्नई, नोएडा, यूपी मेट्रो , गुजरात  के लिए भी आदेश जारी

मेट्रो रेल निगम को स्टेशनों के बाहर भीड़ को नियंत्रित करने और आकस्मिक घटनाओं से निपटने के लिए राज्य पुलिस और स्थानीय प्रशासन के साथ घनिष्ठ संपर्क बनाए रखना चाहिए।
उपरोक्त दिशानिर्देशों के आधार पर, दिल्ली, नोएडा, चेन्नई, कोच्चि, बैंगलोर, मुंबई लाइन-1, जयपुर, हैदराबाद, महा मेट्रो (नागपुर) कोलकाता, गुजरात और यूपी मेट्रो (लखनऊ) ने अपने-अपने एसओपी तैयार किए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने सितंबर, 2020 की अवधि में मेट्रो के पुनः संचालन की शुरूआत नहीं करने का फैसला किया है। इसलिए, मुंबई लाइन-1 और महा मेट्रो (नागपुर) का संचालन अक्टूबर, 2020 से शुरू किया जाएगा या जिस प्रकार से राज्य सरकार द्वारा आगे निर्णय लिया जाएगा।

सभी यात्रियों की होगी थर्मल स्क्रीनिंग

स्टेशनों में प्रवेश करने पर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद केवल बिना लक्षण वाले लोगों को ही यात्रा करने की अनुमति प्रदान की जाएगी। जिन व्यक्तियों में लक्षण दिखें उनको परीक्षण/चिकित्सा प्राप्त करने के लिए निकट के कोविड केयर सेंटर/अस्पताल जाने की सलाह दी जानी चाहिए। आरोग्य सेतु ऐप के उपयोग को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।
यात्रियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले स्टेशनों के प्रवेश पर सैनिटाइजर की व्यवस्था की जानी चाहिए। मानव संपर्क में आने वाले सभी क्षेत्रों जैसे उपकरण, ट्रेन, कार्य क्षेत्र, लिफ्ट, एस्केलेटर, रेलिंग, एएफसी गेट, शौचालय आदि की स्वच्छता को नियमित अंतराल पर बनाए रखा जाना चाहिए। स्मार्ट कार्ड और कैशलेस/ऑनलाइन आदान-प्रदान को प्रोत्साहित किया जाएगा। टोकन और कागज पर्ची/टिकट का उपयोग उचित स्वच्छता के साथ किया जाना चाहिए।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *