LOADING

Type to search

UP: धैर्य रखें, पैदल ना चलें, आपकी सुरक्षित वापसी होगी

उत्तर प्रदेश राज्य

UP: धैर्य रखें, पैदल ना चलें, आपकी सुरक्षित वापसी होगी

Share

—मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की लोगों से अपील
—श्रमिकों को उनके जनपदों तक पहुंचा रही सरकार
—दूसरे राज्यों से अबतक 69 ट्रेनों से हुई श्रमिकों की वापसी
—66 और ट्रेनों को मिली अनुमति

लखनऊ / टीम डिजिटलमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर प्रवासी कामगारों व श्रमिकों से अपील की है वे किसी हालत में पैदल और साइकिल यात्रा ना करें। सीएम ने कहा कि अबतक हजारों लोगों को यूपी सरकार वापस लाने में सफल रही है। यह कार्य सरकार की पहली प्राथमिकता में शामिल है। पैदल चलने से सुरक्षा व बीमारी दोनों ही जोखिम की संभावना बढ़ सकती है। प्रवासी कामगारों व श्रमिकों के वापसी को लेकर हर दिन समीक्षा भी की जा रही है। सीएम येागी ने सभी से धैर्य रखने की भी अपील की है।

उक्त जानकारी शुक्रवार को यहां लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को दी। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 के साथ बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया कि गैर प्रदेश से आने वाले कामगारों व श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए। उनके स्वास्थ्य व रहने की बेहतर व्यवस्था हो। स्वास्थ्य जांच के बाद खाद्यान्न व भरण-पोषण भत्ता देकर घरों तक पहुंचाया जाए। यदि किसी में किसी भी बीमारी के लक्षण हैं तो उसे तत्काल उपचार उपलब्ध कराया जाए। बाहरी राज्यों से आने वाले कामगारों और श्रमिकों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का आदेश सीएम योगी ने अधिकारियों को दिया है।

इसे भी पढें...UP : कोरोना से मौत पर संक्रमण फैलाने वाले को होगी उम्रकैद

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हमारी सरकार द्वारा हर कामगार व श्रमिक की सुरक्षित वापसी की व्यवस्था की जा रही है। शासन स्तर पर सभी राज्य सरकारों से समन्वय बनाकर लोगों की सुरक्षित वापसी का काम किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक 69 ट्रेन आ चुकी हैं या आने वाली हैं।

इसे भी पढें..मालगाड़ी से कटकर 16 मजदूरों की दर्दनाक मौत, पीएम दुखी

उत्तर प्रदेश में 40 जिलों के स्टेशन को श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के लिए तैयार किया गया है। शुक्रवार को दोपहर तक 11 ट्रेन आ गई थी और 16 अन्य आने वाली थी। इन ट्रेनों से 30 हजार लोग आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि 66 ट्रेनों को अनुमति दे दी गई है। गुजरात के लिए 10 अन्य अतिरिक्त ट्रेनों को अनुमति दी जा रही है। इस तरह 76 ट्रेन अगले दो दिनों में आ जाएंगी। उन्होंने बताया कि हर जनपद में परिवहन निगम की बसों को उपलब्ध रहने का आदेश सीएम योगी ने दिया है। कोविड—19 के संकट काल में परिवहन निगम की करीब 10 हजार बसें सेवा में लगी हैं। ट्रेन व बसों से लोगों को लाने की इतनी बड़ी व्यवस्था देना पूरे देश में रिकार्ड है।

विदेशों से आने वालों लोगों के लिए भी निर्देश जारी

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विदेशों से आने वालों लोगों के लिए भी निर्देश जारी किया है। विदेश मंत्रालय की सहायता से दूसरे देशों से लोगों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार की देर शाम दिल्ली में 20 लोगों को लेकर एक विमान आएगा। इन लोगों को गाजियाबाद और नोएडा के क्वारंटीन सेंटर में रखा जाएगा। इसके अलावा 9 मई की शाम 8 बजे एक विमान शारजाह से 200 लोगों को लेकर लखनऊ में उतरेगा। आने वाले सभी लोगों को 14 दिन क्वारंटीन करके ही घर भेजा जाएगा।

सभी प्रदेश सरकारों से बातचीत

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एल—1, एल—2 और एल—3 अस्पतालों के बेड की संख्या को 52 हजार तक बढ़ाने का निर्देश दिया था। इस निर्देश के पालन में अब तक 48 हजार बेड बढ़ा दिए गए हैं। अगले दो से तीन दिनों में इसे 52 हजार तक कर दिया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि बाहरी राज्यों से उत्तर प्रदेश वापस आने के इच्छुक लोगों का मेडिकल परीक्षण का प्रमाण पत्र जरूरी है। उनके लिए केवल एक ही यह शर्त है कि उनकी सूची और उनका मेडिकल जांच का सर्टिफिकेट उत्तर प्रदेश सरकार के पास आ जाए। जिससे ऐसे लोगों को लाने में किसी तरह की परेशानी ना हो। इसके लिए सभी प्रदेश सरकारों से बातचीत करके कार्यवाही की जा रही है।

यूपी में 3145 केस, 63 लोगों की कोरोना से मौत

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में अबतक 3145 केस सामने आए हैं। जिनमें 1821 एक्टिव केस हैं। उपचार के बाद 3145 में से 1261 पेशेंट पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। प्रदेश के 68 जनपद कोरोना से प्रभावित हुए हैं। प्रदेश में कोरोना से 63 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि गुरूवार को कोरोना के 4848 सैंपलों की टेस्टिंग की गई।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि बुधवार को 1779 सैंपलों को मिलाकर 373 सैंपलों का पूल टेस्ट किया गया। जिसमें 18 पूल सैंपल पॉजिटीव मिले। उन्होंने बताया कि पूरे देश में सबसे अधिक सैंपल टेस्ट करने वाली सूची में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर आ गया है। गुरूवार को प्राइवेट और सरकारी लैबों में 1 लाख 16 हजार 30 सैंपलों की जांच की गई है।

आइसोलेशन वार्ड में 1885 लोगों को रखा गया

आइसोलेशन वार्ड में 1885 लोगों को रखा गया है, जबकि क्वारंटीन सैंटर में 9575 लोगों को रखा गया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना से ठीक होने वाले लोगों का औसत 29.35 प्रतिशत है जबकि उत्तर प्रदेश में यह औसत 40.09 प्रतिशत है। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सर्विलांस में 60 हजार 147 टीम लगी रहीं। ये टीमें 50 लाख 43 हजार 903 घरों तक पहुंचकर 2 करोड़ 52 लाख 15 हजार 344 लोगों की जांच भी किया।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *