LOADING

Type to search

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का चुनाव समय पर होगा, दिल्ली सरकार एक्टिव

पंजाबी न्यूज

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी का चुनाव समय पर होगा, दिल्ली सरकार एक्टिव

Share

–सरकार के मंत्री ने बुलाई विशेष बैठक, निष्पक्ष चुनाव का दिए निर्देश
— विधानसभा चुनाव 2020 की मतदाता सूची पर बने सिख मतदाताओं की फोटो युक्त लिस्ट
-गुरुद्वारा चुनाव के मतदान में अनियमितता और फर्जी मतदान नहीं होगा

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : दिल्ली सरकार के गुरुद्वारा कमेटी का चुनाव समय पर करवाने और फोटो युक्त पहचान पत्र बनाने को लेकर दिल्ली के सिखों की डिमांड पर दिल्ली सरकार एक्टिव हो गई है। इसको लेकर दिल्ली सरकार के चुनाव मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने आज विशेष बैठक बुलाई। इस मौके पर कमेटी चुनाव मार्च-2021 की तैयारियों का जायजा लेने के साथ दिल्ली गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय के निदेशक और चुनाव अधिकारी के साथ चर्चा की। बैठक में गौतम ने पिछले गुरुद्वारा चुनाव के मतदान में अनियमितता और फर्जी मतदान की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के आगामी चुनाव को पूरी तरह पारदर्शी और निष्पक्ष ढंग से संपन्न करवाने का निर्देश दिया।

मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने इस काम के लिए गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय को दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय की ओर से हाल में ही दिल्ली विधानसभा चुनाव, 2020 की राज्य मतदाता सूची को प्राप्त करने और उस आधार पर सिख मतदाताओं की फोटो युक्त मतदाता सूची बनाने का आदेश दिया। उन्होंने गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय को आगामी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी चुनाव की फोटो मतदाता सूची को तैयार करने के लिए दिल्ली सरकार के सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग से सहायता लेने के लिए कहा है।
कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने कहा कि इन उपायों को करने से समय की बचत के साथ-साथ पारदर्शी और निष्पक्ष ढंग से गुरुद्वारा चुनाव करवाने का दिल्ली सरकार का संकल्प निर्धारित समय में पूरा हो सकेगा। उन्होंने इस कार्य को गति देने के लिए शीघ्र ही दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय और सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित करने का भी निर्देश दिया।

मतदाता सूची बनाने का काम शुरू होना

बैठक में, गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय के निदेशक ने बताया कि उच्च न्यायालय, दिल्ली के आदेश अनुसार, राजधानी में सिख मतदाताओं की नई मतदान सूची बनाकर चुनाव कराया जाना है। अभी कोविड-19 आपदा में विभागीय कर्मचारियों की आपदा प्रबंधन में ड्यूटी के कारण मतदाता सूची बनाने का काम शुरू होना है। दिल्ली गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने दिल्ली सरकार के सेवा विभाग को चुनाव के लिए आवश्यक स्टाफ प्रदान करने के विषय में पत्र लिखा है।
बता दें कि दिल्ली कमेटी के पूर्व महासचिव एवं वर्तमान सदस्य गुरमीत सिंह शंटी ने पांच दिन पहले ही निदेशालय एवं सरकार को चिटठी लिखकर समय पर चुनाव कराने की गुहार लगाई थी।

4 साल होता है कार्यकाल, मार्च 2021 में होगा चुनाव

दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों के चुनाव, दिल्ली सरकार गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से करवाए जाते हैं। इसके सदस्यों का कार्यकाल चार साल का होता है। पिछला चुनाव फरवरी 2017 में करवाए गए थे, आगामी चुनाव मार्च 2021 में होने हैं। पूरी दिल्ली को चुनाव की दृष्टि से 46 गुरुद्वारा वार्डों में बांटा गया है। गुरुद्वारा वार्ड मतदाता सूची में 18 वर्ष से ऊपर की आयु के पात्र सिक्ख नागरिकों का पंजीकरण किया जाता है। अभी तक की गुरद्वारा वार्ड मतदाता सूची में 38,3561 मतदाताओं के नाम दर्ज हैं। वर्ष 2017 में हुए गुरुद्वारा चुनाव में 45.68 प्रतिशत मतदान हुआ था।

संसद एक्ट के तहत बनी है दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी

दिल्ली सरकार के गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय की स्थापना वर्ष 1974 में संसद में दिल्ली सिख गुरुद्वारा अधिनियम 1971 के नाम से पारित एक अधिनियम के तहत हुई थी। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति का पहला, दूसरा, तीसरा, चौथा और पांचवा आम चुनाव क्रमश: वर्ष 1974, 1978, 1995, 2002, 2007 एवं 2013 में हुए थे। निदेशालय, गुरुद्वारा चुनाव करवाने के अलावा दिल्ली सिख गुरुद्वारा अधिनियम, 1971 के प्रावधानों के पालन के साथ गुरुद्वारा वार्डों के परिसीमन और अधिनियम और नियमों में संशोधन के कार्य को भी सुनिश्चित करता है।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *