LOADING

Type to search

श्री गुरु नानक देव के संदेश पहुंचाने को सिखों का नया तरीका… जाने

देश पंजाबी न्यूज

श्री गुरु नानक देव के संदेश पहुंचाने को सिखों का नया तरीका… जाने

Share

–कमेटी अध्यक्ष मनजिंदर सिरसा ने संभाली कमान
–उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, विपक्षी नेता विजेंद्र गुप्ता को सौंपे पर्चे
–स्ट्रीटप्रचार के तहत सभी धर्म के प्रमुखों से होगी मुलाकात

(आकर्ष शुक्ला)

नई दिल्ली, 26 अगस्त : गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित स्ट्रीट प्रचार मुहिम की शुरुआत कर दी गई। दिल्ली में इसकी कमान खुद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष व विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने संभाली है। सोमवार को सिरसा ने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता सहित कई विधायकों को मिलकर गुरु नानक देव जी के संदेश की जानकारी दी। इस दौरान गुरुनानक देव पर विशेष तौर पर छापे गये पर्चे भी नेताओं को सौंपे।
सिरसा ने बताया कि स्ट्रीट प्रचार के तहत हम सभी धर्मों के लोगों को बता रहे हैं कि गुरु नानक देव जी का धार्मिक संदेश केवल एक धर्म तक सीमित नहीं थे, बल्कि उन्होंने सभी धर्मों को संदेश दिया कि हम अपने-अपने धर्म में पक्के रहें। गुरु नानक देव ने कहा था कि ना कोई हिंदू है और न कोई मुसलमान। उन्होंने हमें समझाया था कि हमारा शरीर, हमारे श्वास एक ही ईश्वर के दिये हुए हैं और इसलिए हमें कभी भी धर्म के नाम पर लडऩा नहीं चाहिए।


सिरसा ने बताया कि गुरु नानक देव ने जहां धार्मिक कर्मकांड का विरोध किया, वहीं अन्याय के खिलाफ भी लड़ाई लड़ी। उन्होंने स्त्री को विशेष दर्जा देने की बात की और अपनी बाणी में भी लिखा कि ‘सो क्यों मंदा आखीएै जित जम्मै राजान… यानि स्त्री को क्यों मंदा कहें जिसने राजाओं को जन्म दिया। उन्होंने यह भी कहा कि जब परमात्मा सभी में मौजूद है तो फिर स्त्री को बुरा क्यों मानेंगे।
सिरसा ने बताया कि गुरु नानक देव जी ने मानवता को नाम जपो, कीरत करो और वंड छको को संदेश दिया जिस के तहत परमात्मा की उस्तति करना स्वंय अपने हाथ से कीरत करने और जो हमारे पास है वह दूसरों के साथ बांट कर छकना ही जीवन का मूल बनाने का उपदेश दिया। गुरु नानक देव जी का 550 प्रकाश पर्व इस बार संसार भर में मनाया जा रहा है और हर धर्म के लोग इन प्रोग्रामों में शामिल हो रहे हैं। इन प्रोग्रामों को लेकर जहां सारे देश में उत्साह है, वहीं विश्व के अलग-अलग मुल्कों में पूरे जोश से प्रोग्राम आयोजित किये जा रहे हैं।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *