LOADING

Type to search

ऑपरेशन थंडर : 141 शहरों में 276 स्थानों पर छापेमारी

टेक्नोलॉजी देश संपादकीय ब्लॉग

ऑपरेशन थंडर : 141 शहरों में 276 स्थानों पर छापेमारी

Share

पहली बार 387 रेल टिकट दलाल गिरफ्तार
–22,253 रेल टिकट बरामद, कुल 375 केस दर्ज
–13 जून को देशभर में एक साथ ही बड़ी कार्रवाई
–बरामद टिकटों से एक सप्ताह में होनी थी यात्राएं

(अदिति सिंह)
नई दिल्ली : भारतीय रेलवे में कंफर्म टिकटों की कालाबाजारी और राष्ट्रीय स्तर के गोरखधंधे के खिलाफ रेलवे पुलिस ने राष्ट्रव्यापी अभियान ऑपरेशन थंडर चलाया। इसके तहत एक दिन (13 जून) को देश के 141 शहरों में 276 स्थानों पर एक साथ छापेमारी की गई। देश में पहली बार बड़े स्तर पर हुए ऑपरेशन में 387 रेलवे टिकट दलालों को पकड़ा गया। कुल 375 केस दर्ज हुए। इनके पास से 22,253 कंफर्म टिकट बरामद किए गए हैं, जिनकी कीमत 32, 99, 093 है। सभी टिकट जब्त कर लिए गए हैं, जिनपर 50 हजार से अधिक यात्रियों को सफर करना था। इन टिकटों को बनाने में इस्तेमाल किए गए सभी संदिग्ध यूजर आईडी को ब्लैकलिस्टेट कर दिया गया है। इस ऑपरेशन थंडर में कुल 375 मामले दर्ज करते हुए 387 अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है। रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरूण कुमार ने बताया कि इस गोरखधंधे की गंभीरता से जांच की जा रही है। हालांकि, इसमें अब तक यह बात सामने नहीं आई है कि इस गोरखधंधे में रेलवे के कर्मचारी भी शामिल हैं।


आरपीएफ के डीजी अरूण कुमार के मुताबिक इस अभियान में सबसे ज्यादा रेलवे के ईस्टर्न रेलवे के कोलकाता क्षेत्र में सफलता मिली है, जहां 51 दलाल पकड़े गए हैं। इसके बाद बिलासपुर में 41, बिहार में 17, एनसीआर में 25, उत्तर रेलवे में 30 दलालों को टिकटों के साथ दबोचा गया है। दलालों के पास से बरामद टिकटों में अगले एक सप्ताह के दौरान यात्राएं होनी थी। इस मौके पर रेल मंत्रालय की प्रवक्ता स्मिता वत्स शर्मा सहित रेलवे सुरक्षा बल के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

फर्जीवाड़ा कर ऊंचे दामों पर रेल टिकटों की कालाबाजारी


बता दें कि गर्मी की छुट्टियों, स्कूलों की छुटटी और शादी विवाह के मौसम होने के कारण इन दिनों लगभग सभी रेलगाडिय़ों में भारी भीड़ है। खासकर उत्तर भारत की ट्रेनों का बुरा हाल है। इसी का फायदा उठाते हुए अराजक तत्व, टिकट काउंटर, ई-टिकटिँग सुविधा का दुरूपयोग करते हुए फर्जीवाड़ा कर ऊंचे दामों पर रेल टिकटों की कालाबाजारी करते हैं। इस प्रक्रिया में वह आमजन को टिकटों की उपलब्धता से वंचित कर रहे हैं। साथ ही आईआरसीटीसी की बेवसाइड में दी गई यात्री सुविधा का दुरूपयोग कर सामान्य लोगां को परेशानी में डाल रहे हैं।

करोड़ों के अवैध कारोबार कर चुके हैं टिकट दलाल


रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरूण कुमार ने बताया कि ऑपरेशन थंडर में गिरफ्तार टिकट दलालों के पास से महत्वपूर्ण चौकाने वाली जानकारियां मिली हैं। पूछताछ में पता चला है कि इससे पहले भी ये दलाल 3,24,12,706 रूपये से ज्यादा का अवैध कारोबार कर चुके हैं। सभी संदिग्ध यूजर आईडी को जब्त कर लिया गया है और सभी टिकटों को निष्क्रिय करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

दलालों से टिकट न खरीदें यात्री, फंसेंगे : आरपीएफ


आरपीएफ के डीजी अरूण कुमार ने देशभर के लोगों से अपील किया है कि वे रेलवे टिकट निर्धारित काउंटर से या आईआरसीटीसी की वेबसाइड से ही खरीदें। दलालों से अगर टिकट खरीदते हैं तो आपकी यात्रा मुश्किल में पड़ सकती है। डीजी के मुताबिक पूरे देश में टिकट दलालों को जड़ से समाप्त करने के लिए एक साथ बड़ी कार्रवाई की गई है। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। इसके लिए आरपीएफ ने व्यापक तैयारी कर ली है।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *