LOADING

Type to search

लॉकडाउन : जरूरतमंदों का पेट भरने मैदान में उतरे सिख, संभाला मोर्चा

दिल्ली देश पंजाबी न्यूज

लॉकडाउन : जरूरतमंदों का पेट भरने मैदान में उतरे सिख, संभाला मोर्चा

Share

–15 अप्रैल तक प्रतिदिन 5 से 10 हजार राशन पैकेट बांटेंगे
–गुरुद्वारा कमेटी के पूर्व अध्यक्षों ने लिया संकल्प, कोई भूखा पेट नहीं रहेगा

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी के कारण अपना रोजगार गँवा चुके लोगों तक राशन पहुँचाने एवं उनका पेट भरने के लिए आज दिल्ली में सिखों ने बड़ी पहल की। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक के दो पूर्व अध्यक्षों परमजीत सिंह सरना और मनजीत सिंह जीके ने प्रशासन के साथ मिलकर जरूरतमंद लोगों तक राशन के पैकेट भेजने का आज संयुक्त तौर पर अभियान शुरू किया। नेताओं ने ऐलान किया कि अब 15 अप्रैल तक प्रतिदिन 5 से 10 हजार राशन पैकेट रोजाना वितरित करेंगे।

सरना ने ‘कोरोनाÓ को कहर की संज्ञा देते हुए दावा किया की कि आपदा आने के बाद उनकी पार्टी की तरफ से दिल्ली कमेटी से गुरुद्वारा बंगला साहिब के लंगर की सेवा बाकायदा पत्र लिखकर माँगी गई थी, कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका को फ़ोन करके उन्होंने गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में लंगर पकाने के लिए जगह भी माँगी थी, ताकि लंगर की माँग पूरी की जा सके। पर हमें कोई स्पष्ट संदेश नहीं दिया गया। दिल्ली सरकार ने लंगर के लिए पहुँच की, हमनें उन्हें कहा की कि हमारे पास कमेटी नहीं है, जिस पर सरकार की तरफ से हमें अमरीका में बिना कमेटी के सिखों के द्वारा की जा रहीं लंगर सेवा का हवाला दिया गया। यह आपदा पूरे संसार, देश और दिल्ली पर आई थी, इसलिए सभी विरोधी लोग एकजुट होकर बड़ा अभियान शुरू किया।

लंगर हमारी विरासत है-मंजीत सिंह जीके

इस मौके पर मंजीत सिंह जीके ने कहा कि गरीब और जरूरतमंदों की मदद तथा सिख परंपरा और विचारधारा की रक्षा के लिए सियासी मतभेदों को दरकिनार करके हमने जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए आगे आने का फैसला किया है। लंगर हमारी विरासत है, सिख हमेशा विपदा के समय आगे आकर लंगर लगता रहा है। चाहे सीरिया, जम्मू या उत्तराखंड हो, सिख कभी पीछे नहीं हटे। गरीब-गुरबे की मदद करना सिख का पहला फर्ज है। कोरोना ने विकसित देशों चीन, अमरीका, इटली, जर्मनी, स्पेन आदि देशों को अपना शिकार बनाया है। लेकिन हमारी सरकारें एस मामले में बेहतर कर रही है, चाहे मोदी हो या केजरीवाल की सरकार, काफी हद तक सरकारों की सक्रियता ने कोरोना के फैलने पर अंकुश लगा दिया है। जीके कहा कि गुरुद्वारा ग्रेटर कैलाश, पहाड़ी वाला की तरफ से भी इस सहायता में हिस्सा डालने की उनसे पेशकश की गई है। जीके ने अपने आसपास के गरीब लोगों को अपने घर से दाल-रोटी बनाकर देकर देने की सिखों को अपील करते हुए इस दौरान जीवाणु संक्रमण से अपना बचाव करने की सलाह भी दी।

महिला अकाली दल ने भी मदद के लिए आगे आई

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं स्त्री अकाली दल दिल्ली की प्रदेश अध्यक्ष बीबी रणजीत कौर ने पश्चिमी दिल्ली के संतगढ़ क्षेत्र में जरुरतमंदों को राशन वितरित किया।
बीबी रणजीत कौर ने बताया कि उन्हें कई जगह से फोन आ रहे थे कि लोगों के पास खाने के लिए भी कुछ नहीं है और उनके काम धन्धे कोरोना के चलते बंद हो गये हैं। इसके चलते बीबी रणजीत कौर ने फैसला लिया और उन्होंने अन्तहीन संस्था के बैनर तले संतगढ़ क्षेत्र में जाकर जरुरतमंदों को राशन के पैकिट बनाकर वितरित किये जिससे उनका आने वाले कुछ दिन तक गुजारा चल सकेगा। बीबी रणजीत कौर ने बताया कि उन्होंने जो पैकेट बांटे हैं उसमें 10 किलो आटा, दाल, चावल, चीनी, चाय पती, मसाले, बिस्कुट, शहद और रस है जिससे वह अपने बच्चों को खाना खिला सकेगे।

इस कार्य में प्रितपाल सिंह पाली, बलबीर सिंह बिल्लु, बन्नी जौली जैसे लोगों का सहयोग मिला। बीबी रणजीत कौर ने कहा कि हम चाहते हैं कि बाकी लोग भी जागरुक हों और मुसीबत की इस घड़ी में अपने आस पास रहने वाले जरुरतमंदों की मदद करें ताकि कोई भी भूखा न रहे सके। उन्होंने कहा यही सच्ची सेवा है और हर किसी को इस सेवा को करना चाहिए।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *