LOADING

Type to search

रेलवे की अनूठी पहल, 215 स्टेशनो पर होगा कोविड केयर कोच

देश रेल समाचार

रेलवे की अनूठी पहल, 215 स्टेशनो पर होगा कोविड केयर कोच

Share

-रेलवे ने बनाए 5231 कोच में कोविड देखभाल केंद्र

-215 रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध होगा कोविड देखभाल कोच
–85 स्टैशनों पर चिकित्सा सहित सभी सुविधाएं रेलवे करेगा
–130 स्टेशनों पर मेडिकल सहित बाकी सुविधाएं राज्य करेगी
–नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, निजामुद्दीन में होगा कोच
–यूपी के 26, बिहार के 16, पंजाब के 6, हरियाणा के 4 स्टेशन चिन्हित
–स्थानीय अस्पतालों से जुड़ा होगा कोच, इमरजेंसी सेवाएं मिलेंगी

(खुशबू पाण्डेय)
नई दिल्ली / टीम डिजिटल : कोविड-19 से लडऩे के लिए भारतीय रेलवे की ओर से बनाए गए 5231 रेलवे कोच में कोविड देखभाल केंद्र के रूप में परिवर्तित किया गया है। यह विशेष कोच देश के 215 रेलवे स्टेशनों पर रखा जाएगा। 215 स्टेशनों में से 85 स्टेशनों में स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं भारतीय रेलवे पूरी तरह से उपलब्ध कराएगा। जबकि, 130 स्टेशनों पर मेडिकल सहित बाकी सुविधाएं स्थानीय राज्य प्रशासन की ओर से मुहैया करवाई जाएगी। इन कोचों का उपयोग वैसे क्षेत्रों में किया जाएगा जहां राज्य की सुविधाएं कमजोर हैं और कोविड के संदिग्ध तथा पुष्ट मामलों के आइसोलेशन के लिए क्षमताओं को बढ़ाने की जरूरत है। यही कारण है कि ये सभी कोच जिला एवं राज्य के अस्पतालों से जुड़े होंगे, जहां से उन्हें मेडिकल सुविधाएं मिलेंगी।

अपने शहर के स्टेशनों की लिस्ट यहां से देखें...Annexure A

कोरोना के जो गंभीर रोगी होंगे उन्हें अस्पताल में रखा जाएगा, जबकि शुरुआती लक्षण वालों को इसी विशेष कोच में रखा जाएगा। इसके लिए राजधानी दिल्ली के तीनों बड़े रेलवे स्टेशन नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली एवं निजामुद्दीन को चुना गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 26 स्टेशन, बिहार के 16 स्टैशन, पंजाब के 6, हरियाणा के 4, महाराष्ट के 21, जम्मू-कश्मीर के 2 स्टेशन, गोवा स्टेशन सहित सभी राज्यों के प्रमुख स्टेशनों को चुना गया है इसमें राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, असम, गुजरात, ओडिशा,आंध्र प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ,त्रिपुरा, तेलंगाना, केरला, तमिलनाडू,कर्नाटका, गोवा आदि राज्य शामिल हैं।

यहां के चुनिंदा स्टेशनों पर कोविड देखभाल केंद्र कोच रखे जाएंगे। इसके अलावा भारतीय रेलवे जल, बिजली, मरम्मत, कैटरिंग एवं कोविड देखभाल केंद्रों की सुरक्षा का ध्यान रखेंगी।


खास बात यह है कि राज्यों को तभी कोविड देखभाल कोचों को दिया जाएगा जब वे कर्मचारियों एवं अनिवार्य दवाएं उपलब्ध कराने के लिए सहमत होंगे। इस बावत केंद्र द्वारा राज्य सरकारों को दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं। साथ ही स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा अन्य संस्थानों के परामर्श से रेलवे ने तैयारी की है। जोनल रेलवे ने इन कोचों को क्वारांटाइन सुविधा के लिए रूपांतरित कर दिया है।
जानकारी के मुताबिक भारतीय रेलवे ने इन कोविड देखभाल केंद्रों के लिए 158 स्टेशनों को वाटरिंग और चार्जिंग सुविधा के साथ और 58 स्टेशनों को वाटरिंग सुविधा के साथ तैयार रखा है।

रेलवे ने 2500 डाक्टर व 35 हजार अर्ध
चिकित्सक कर्मचारी नियुक्त किए

भारतीय रेल ने कोविड-19 चुनौती का सामना करने के लिए 2500 से अधिक चिकित्सक और 35000 से अधिक अर्ध चिकित्सक कर्मचारियों की नियुक्ति की है। चिकित्सकों और अर्ध चिकित्सक कर्मचारियों की नियुक्ति विभिन्न जोनों द्वारा अस्थायी आधार पर की जा रही है। 17 समर्पित अस्पतालों में लगभग 5,000 बेड एवं रेलवे अस्पतालों में 33 अस्पताल ब्लॉक की कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए पहचान की गई है जो किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार रहेंगे।

जिलों के कलेक्टर को कोच सुपुर्द करेगी रेलवे

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी की माने तो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुरूप, राज्य सरकारें रेलवे को मांग पत्र भेजेंगी। रेलवे राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को इन कोचों का आवंटन करेगा। रेलवे द्वारा आवंटन किए जाने के बाद, रेलगाड़ी आवश्यक अवसंरचना के साथ अपेक्षित स्टेशन पर खड़ी कर दी जाएगी और जिला कलेक्टर एवं मजिस्ट्रेट या उनके किसी प्राधिकृत व्यक्ति को सुपुर्द कर दिया जाएगी। रेलगाड़ी जहां कहीं भी खड़ी होगी, जल, बिजली, अपेक्षित मरम्मत, कैटरिंग प्रबंधों एवं सुरक्षा का ध्यान भारतीय रेल द्वारा रखा जाएगा।

Tags:

1 Comment

  1. Vinod Mishra May 7, 2020

    Excellent news

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *