LOADING

Type to search

दिल्ली में शुरू हुई फ्री वाई फाई सुविधा, छात्रों को मिलेगी सुविधा

दिल्ली देश

दिल्ली में शुरू हुई फ्री वाई फाई सुविधा, छात्रों को मिलेगी सुविधा

Share

दिल्ली में शुरू हुई फ्री वाई फाई सुविधा, लीजिए मजा
— दिल्ली में पहले 109 हॉटस्पॉट का उद्घाटन

–पूरी दिल्ली में 11 हजार वाई-फाई के हाॅट स्पाॅट्स लगाए जाएंगे
— हर सप्ताह 500 हॉटस्पॉट लगेंगे : अरविंद केजरीवाल

(नीता बुधौलिया)

नई दिल्ली :  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को फ्री वाइफ़ाई दिल्ली का सपना साकार किया। उन्होंने आईटीओ बस स्टाँप से  फ्री वाईफाई योजना का शुभारंभ किया। बृहस्पतिवार को 109 हॉटस्पॉट का उद्घाटन किया गया। जिससे दिल्ली के कई इलाखों में फ्री वाई फाई की सुविधा प्रारंभ हो गई। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली दुनिया में पहला शहर बन गया जहां सरकार की तरफ से पूरे शहर के लिए फ्री वाई-फाई की सुविधा दी जा रहा है। अब प्रति सप्ताह 500 हॉटस्पॉट लगेंगे। मुख्यमंत्री  अरविंद केजरीवाल ने हाँट स्पाँट के जरिए ही दिल्ली विश्वविद्यायल में इस योजना का शुभारंभ कर रहे उप मुख्यमंत्री  मनीष सिसोदिया से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की। साथ ही दिल्ली विश्वविद्यायल के छात्रों को भी इस योजना के प्रारंभ होने पर बधाई दी। दिल्ली सरकार पूरी दिल्ली में मुफ्त वाईफाई सुविधा देने के लिए 11 हजार हॉटस्पॉट लगाएगी। पूरी दिल्ली में अगले 6 माह में सभी 11 हजार हॉटस्पॉट लग जाएंगे। इसके बाद प्रति 500 मीटर दूरी पर लोग फ्री वाईफाई की सुविधा ले सकेंगे।

सभी 11 हजार हॉटस्पॉट लग जाने के बाद एक समय में 22 लाख लोग एक साथ फ्री वाईफाई का इस्तेमाल कर सकेंगे। एक उपभोक्ता को प्रतिमाह 15 जीबी डाटा मुफ्त मिलेगा। इससे पहले मुख्यमंत्री ने दिल्ली को दो सौ यूनिट मुफ्त बिजली, 20 हजार लीटर मुफ्त पानी, महिलाओं को बस में मुफ्त सफर का तोहफा दे चुकें हैं। अब मुफ्त वाईफाई का सबसे ज्यादा लाभ छात्रों, शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोगों को होगा। साथ ही इंटरनेट पर निर्भर हर आम जन की प्रतिमाह बचत हो सकेगी।

मुख्यमंत्री  अरविंद केजरिवाल ने कहा कि आज दिल्ली में फ्री वाई-फाई की शुरूआत होने जा रही है। पूरी दिल्ली में 11 हजार वाई-फाई के हाॅट स्पाॅट्स लगाए जाएंगे। दिल्ली के 4 हजार बस स्टाप के उपर वाई-फाई हाॅट स्पाॅट्स लगाए जाएंगे। उसके अलावा 7 हजार अन्य जगहों पर भी हाॅट स्पाॅट्स लगाए जाएंगे। इसमें आरडब्ल्यूए, मार्केट एसोसिएशन व अन्य स्थानों पर हाॅट स्पाॅट्स लगाए जाएंगे। सभी हाॅट स्पाॅट्स 80 मीटर के दायरे में काम करेंगे।

6100 हाॅट स्पाॅट्स 200 एमबीपीएस के होंगे और 5900 हाॅट स्पाॅट्स 50 एमबीपीएस स्पीड के होंगे। हमें खुशी है कि शायद भारत के इतिहास में यह पहली सरकार होगी, जिसने चुनाव में जितने वादे किए थे, उन सभी को पूरा कर दिए। यह आखिरी वादा था, इसे भी पूरा कर दिया गया। आ अगले छह महीने में सभी 11000 हाॅट स्पाॅट्स लगा दिए जाएंगे। दिल्ली के अंदर यह हमारा पहला हाॅट स्पाॅट है। हम देखेंगे कि यह कैसा काम कर रहा है। इसके बाद फेज दो में जितनी दिल्ली बच जाएगी, उसमें भी हम लोग हाॅट स्पाॅट लगा देंगे। मुख्यमंत्री   अरविंद केजरिवाल ने दिल्ली निवासियों को बधाई देते हुए कहा कि अब आप लोगों को फ्री वाई-फाई का लाभ मिलेगा।

दिल्ली के बस स्टाँप पर 4 हजार हाँटस्पाँट लगेंगे

वाई फाई मुफ्त करने से विद्यार्थियों को बहुत मदद मिलेगी। हेल्थ व शिक्षा के क्षेत्र में खूब मदद मिलेगी। आज इंटरनेट का ऐसा जमाना है कि इन्फॉर्मेशन इतनी उपलब्ध है कि हर क्षेत्र में इससे फायदा होगा। दिल्ली में 11 हज़ार हॉटस्पॉट लगाए जा रहे हैं। दिल्ली के बस स्टैंड में चार हॉट स्पॉट्स लगाए जाएंगे। बाजार, पार्क व आरडब्ल्यूए में सात हजार हॉट स्पॉट्स लगाए जाएंगे। यह जो सात हजार हॉट स्पॉट्स हैं, इनमें से प्रत्येक विधानसभा  में 100-100 हॉट स्पॉट्स लगाए जाएंगे।

 प्रतिदिन 1.5 जीबी डेटा मुफ्त इस्तेमाल कर सकेंगे

अब हर सप्ताह 500-500 हॉट स्पॉट्स लगते जाएंगे। 23 दिसम्बर तक 600, 30 दिसम्बर तक 1100 हाँट स्पाँट लग जाएंगे। इस तरह करीब छह महीने के अंदर 11 हज़ार हॉट स्पॉट्स पूरी दिल्ली में लग जाएंगे। इन हॉट स्पॉट्स को लगने के बाद दिल्ली में 500 मीटर पर लोगों को एक वाई फाई मिल जाएगा। अभी शुरू में इतने ही डेंसिटी होगी कि आधे किलोमीटर के अंदर आपको वाई फाई का कनेक्शन मिल जाएगा। प्रत्येक हॉट स्पॉट की 100 मीटर रेडियस की रेंज होगी। हर व्यक्ति को 15 जीबी डेटा हर महीने मुफ्त में दिया जाएगा और प्रतिदिन 1.5 जीबी डेटा मुफ्त में दिया जाएगा। औसतन 100 एमबीपीएस की स्पीड होगी। कुछ जगह 200 एमबीपीएस की भी स्पीड मिलेगी। CM ने कहा यह कंपनी दावा कर रही है, लेकिन मैं 200 से कम लेकर चल रहा हूँ। वास्तव में जो प्लान किया गया, उसमे कई सारे जो हाई डेंसिटी वाले क्षेत्र थे, वहां पर 200 एमबीपीएस है और जहां काफी ज्यादा लोड है, वहां पर 100 एमबीपीएस है। इंटरनेट की स्पीड अधिकतम 200 एमबीपीएस और न्यूनतम 100 होगी।

रेंज बदलने पर भी डिस्कनेक्ट नहीं होगा इंटरनेट

एक हॉट स्पॉट पर 150 से 200 लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर हम औसतन 200 यूजर माने और 11 हज़ार हॉट स्पॉट्स माने तो 22 लाख यूजर एक साथ इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाएंगे। हॉट स्पॉट्स को आसानी से इस्तेमाल करने के लिए एक एप बनाया गया है। इस एप को जारी कर दिया जाएगा। उस एप के जरिये उपभोक्ता (यूजर) को अपनी केवाईसी की डिटेल भरनी होगी। केवाईसी भरने के बाद यूजर के फोन में ओटीपी आएगा।  वह ओटीपी डालने के बाद इंटरनेट का कनेक्शन चालू हो जाएगा। और आप एक सप्ताह तक आप अपने हॉट स्पॉट्स के जोन से निकल कर दूसरे के जोन में जाते हैं, तो इंटरनेट डिस्कनेक्ट नहीं होगा, बल्कि ऑटोमैटिकली वह दूसरे हॉट स्पॉट्स में जाकर कनेक्ट हो जाएगा। यह पहला फेज है। पहले फेज में 11 हज़ार हॉट स्पॉट्स लगाए जा रहे हैं। इसकी सफलता और इसके अनुभव के आधार पर दिल्ली के जो क्षेत्र बच जाएंगे, उन क्षेत्रों को दूसरे फेज में इस योजना को लागू किया जाएगा।

सीसीटीवी को भी हाँट स्पाँट से जोड़ा जाएगा

दिल्ली में लगे सीसीटीवी को फ्री वाईफाई सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इससे दिल्ली को और सुरक्षित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमने 2015 में सरकार में आते ही हॉट स्पॉट्स पर काम शुरू किया था और पायलट प्रोजेक्ट भी शुरू किया था। रेस्टो कम्पनी को वाई फाई का कांट्रेक्ट दिया गया है। दिल्ली में लगे सीसीटीवी कैमरों व वाई फाई का मेंटिनेंस दिल्ली सरकार करेगी। वाई फाई लगाने को लेकर कई मॉडल देखे गए थे। किसी ने 20 हज़ार करोड़ खर्च बताया था, तो किसी ने 10 हज़ार करोड़ खर्च बताया था। लेकिन आज जब हम इसे लागू करने जा रहे हैं तो इस पर 100 करोड़ रुपये से भी कम खर्च कर रहे। कीमत काफी कम है।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *