LOADING

Type to search

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को चेताया

देश

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को चेताया

Share

राजनाथ ने कहा-अब मौसम बदल चुका है और तापमान भी
-रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को चेताया
–सीमा पर शरारत की तो सुरक्षा बल देंगे माकूल जवाब
–जन-संवाद रैली के जरिए जम्मू-कश्मीर की जनता से की चर्चा
-जम्मू-कश्मीर का विकास मोदी सरकार की मुख्य प्राथमिकता : राजनाथ
-जनता को गुमराह करने को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : केंद्रीय रक्षा मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने आज जन-संवाद वर्चुअल रैली के जरिये जम्मू एवं कश्मीर की जनता एवं पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कई विषयों पर चर्चा की। साथ ही धारा 370 के उन्मूलन के बाद जम्मू-कश्मीर की बदलती तस्वीर पर चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार की उपलब्धियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने नकारात्मक राजनीति की पर्याय बन चुकी कांग्रेस पर भी जनता को गुमराह करने को लेकर जोरदार हमला बोला।
राजनाथ सिंह ने कहा कि पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत बनाने का संकल्प लिया है। आने वाले समय में ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत और आत्मनिर्भर भारत बनने से दुनिया की कोई ताकत हमें नहीं रोक सकती।
इसके अलावा मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए अब तक दो लाख करोड़ रुपये से भी अधिक धनराशि का आवंटन किया है। जम्मू-कश्मीर का विकास हमारी सरकार की मुख्य प्राथमिकता है।
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को चेताया कि अब मौसम बदल चुका है और तापमान भी। मुजफ्फराबाद और गिलगित के दर्जा-ए-हरारत (तापमान) बताने के कारण इस्लामाबाद में भी कुछ हरारत महसूस हो रही है, इसलिए वे सीमा पर कुछ ज्यादा ही शरारत कर रहे हैं, लेकिन हमारे सुरक्षा बलों द्वारा उन्हें माकूल जवाब दिया जा रहा है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की तस्वीर बदलने के लिए मोदी सरकार ने कई कदम उठाये हैं। जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए 50 से अधिक निर्णय एक महीने में ही ले लिए गए। अब वहां एम्स, आईआईटी और मेडिकल कॉलेज की स्थापना हो रही है। जम्मू-कश्मीर में छ: मेडिकल कॉलेज और दो सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी की स्थापना हो रही है।

जम्मू-कश्मीर का विकास हमारी सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। आगामी पांच वर्षों में जम्मू-कश्मीर के विकास की तसवीर इतनी बदल जायेगी कि पीओके के लोग भी रश्क करेंगे कि काश! हम भी भारत में होते तो हमारी भी तस्वीर बदल जाती। आगे क्या होगा, प्रतीक्षा कीजिये। राजनाथ सिंह ने कहा कि पीओके से ही मांग होगी कि हम भारत में रहना चाहते हैं और उस दिन देश की संसद का भी स्वप्न साकार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनौतियों पर विजय प्राप्त करने का नाम ही भारतीय जनता पार्टी है। दो से दोबारा की हमारी यात्रा चुनौतियों पर विजय प्राप्त करने की ही कहानी है।

दुनिया के अधिकतर देशों का समर्थन भारत को मिल रहा

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हिंदुस्तान की राजनीति में कभी भी विश्वास का संकट नहीं आने देगी। तभी तो धारा 370 के उन्मूलन पर किसी ने लिखा-दर्द की रात गई, गम का खजाना भी गया, मोदी तेरे हिम्मत से यह दाग पुराना भी गया।
उन्होंने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत का नारा दिया था। भारतीय जनता पार्टी सरकार आज भी इसी सिद्धांत पर चल रही है। हमारे लिए कश्मीरियत में हजरत बल भी है तो बाबा बर्फानी अमरनाथ भी।
उन्होंने कहा कि पहले दुनिया के ज्यादातर देश पाकिस्तान के साथ खड़े होते थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय जगत में देश की प्रतिष्ठा इस तरह से बढ़ाई है कि दुनिया के अधिकतर देशों का समर्थन भारत को मिल रहा है। इतना ही नहीं, अब मुस्लिम देशों का भी समर्थन हमें मिल रहा है।

धर्मनिरपेक्षता पर सबसे बड़ा आघात

राजनाथ सिंह ने कहा कि धारा 370 को हटाने पर कांग्रेस पार्टी ने कहा था कि यह धर्मनिरपेक्षता पर सबसे बड़ा आघात है। कांग्रेस चाहती तो आराम से जम्मू-कश्मीर के संविधान में ‘सेक्युलर शब्द जोड़ सकती थी क्योंकि तब जम्मू-कश्मीर विधान सभा में कांग्रेस को 75 में से लगभग 54 सीटों पर विजय प्राप्त थी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लंबे समय से नौशेरा सेक्टर और सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए बंकर की मांग की जा रही थी। आज उनका निर्माण लगभग पूरा हो गया है। अब अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर रहने वाले लोगों को भी एलओसी पर रहने वाले लोगों की तरह ही आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

भारत-चीन में मिलिट्री लेवल पर बात चल रही

राजनाथ सिंह ने कहा कि हम लोकतांत्रिक व्यवस्था में विपक्ष की अहमियत समझते हैं, उनका सम्मान करते हैं लेकिन सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। भारत-चीन में मिलिट्री लेवल पर बात चल रही है। चीन ने भी बातचीत से समस्या का समाधान ढूँढने की इच्छा जताई है, हम भी बातचीत के जरिये ही समस्या के समाधान के पक्ष में हैं।
उन्होंने कहा कि विपक्ष के सभी नेताओं और देश की जनता को बताना चाहता हूँ कि हमारी सरकार किसी को भी इस विषय पर अंधेरे में नहीं रखेगी। हम संसद को भी अंधेरे में नहीं रखेंगे। हम उचित समय पर इसका खुलासा करेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ‘नेशनल प्राइडÓ से कोई समझौता कभी भी नहीं करेगी। हम देश की रक्षा ताकत को बढ़ा रहे हैं लेकिन यह देश की सुरक्षा के लिए है।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *