LOADING

Type to search

कांग्रेस की रैली में उमड़ी भीड़, दिखी वापसी की नई उम्मीद

देश

कांग्रेस की रैली में उमड़ी भीड़, दिखी वापसी की नई उम्मीद

Share

कांग्रेस की रैली में उमड़ी भीड़, कांग्रेस को दिखी वापसी की किरणें
—कांग्रेस ने विशाल रैली कर मोदी सरकार को घेरा
—’अंधेर नगरी, चौपट राजा का माहौल बताया

(नीता बुधौलिया)

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित कांग्रेस पार्टी की ‘भारत बचाओ रैली में हजारों की भीड उमडी। वर्षों बाद कांग्रेस की रैली में कार्यकर्ताओं की भीड देख सोनिया गांधी भी गदगद हो उठीं। रैली में देशभर से कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे। इसमें युवाओं की संख्या बहुत ज्यादा थी। यही कारण है कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी अति उत्साहित दिखे। भीड का आलम यह था कि जितने लोग रामलीला मैदान में थे, उतने ही लोग बाहर मौजूद रहे।

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर विफलता और विभाजनकारी नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शनिवार को यहां नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया कि इस सरकार में ‘अंधेर नगरी, चौपट राजा का माहौल है। रामलीला मैदान में आयोजित विशाल ‘भारत बचाओ रैली में सोनिया के साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम तथा कांग्रेस शासित राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान के मुख्यमंत्रियों ने आॢथक मंदी, कृषि संकट, बेरोजगारी, महिला सुरक्षा तथा नए नागरिकता कानून को लेकर मोदी सरकार को घेरा। सोनिया ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रधानमंत्री मोदी एवं गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि यह अधिनियम देश की आत्मा को तार-तार कर देगा।

उन्होंने यह दावा भी किया कि मोदी-शाह को संवैधानिक संस्थाओं की कोई परवाह नहीं है और उनका सिर्फ एक ही संकीर्ण एजेंडा है कि लोगों को आपस में लड़ाकर अपनी विफलताओं को छिपाया जाए। उन्होंने इस सरकार में ‘अंधेर नगरी, चौपट राजा का माहौल होने का दावा करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए कमर कस लें। सोनिया ने कहा, आज का माहौल ऐसा हो गया है कि जब मर्जी आए, कोई धारा लगा दो, कोई धारा हटा दो, प्रदेशों का दरजा बदल दो। जब मरजी आए राष्ट्रपति शासन हटा दो। बिना बहस के कोई भी विधेयक पारित कर दो। ये संविधान-दिवस मनाने का दिखावा करते हैं, और हर रोज संविधान की धज्जियां उड़ाते हैं। उन्होंने दावा किया, मोदी-शाह को इस बात की कोई परवाह ही नहीं है, कि ये जो नागरिकता संशोधन कानून अभी लाये हैं, वह भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा, जैसा कि असम और पूर्वोत्तर के प्रदेशों में हो रहा है।

युवा रोजगार की तलाश में भटकर रहे हैं 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारत की वह आत्मा, जिसके लिए हमारे महान् राष्ट्र निर्माताओं और बाबा साहब अंबेडकर ने कठिन संघर्ष किया था। लेकिन मैं दावे के साथ कह सकती हूं, कि हमारे देश का बुनियादी स्वभाव, ऐसे भेद-भाव वाले मुकदमों की इजाजत नहीं देता है। मैं विश्वास दिलाती हूं कि जिनसे भी अन्याय होगा, कांग्रेस उन सभी के साथ खड़ी रहेगी। उन्होंने अर्थव्यवस्था की स्थिति का उल्लेख करते हुए कहा, आज युवा जिस तरह की बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं वैसा दशकों से नहीं था। युवा रोजगार की तलाश में भटकर रहे हैं, नौकरियां जा रही हैं। किसान परेशान हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, महिलाओं पर जिस तरह की बर्बरता और जु़ल्म आज हो रहे हैं, उसे देखकर हमारा दिल टूट रहा है, हमारा सिर शर्म से झुक जाता है। उन्होंने कहा, नाइंसाफी सहना सबसे बड़ा अपराध है। इसलिए मोदी-शाह सरकार को अपनी आवाज बुलंद करके बताइए कि लोकतंत्र की रक्षा के लिए हम कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं।

मैं सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा : राहुल गांधी

 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रेप इन इंडिया वाली टिप्पणी पर भाजपा की तरफ से माफी की मांग किए जाने पर पलटवार करते हुए शनिवार को कहा कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं हैं और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगने वाले हैं। उन्होंने दावा किया कि भारत के दुश्मन अर्थव्यवस्था को नष्ट करना चाहते थे लेकिन इस काम को खुद देश के प्रधानमंत्री ने अंजाम दे दिया। ‘रेप इन इंडिया वाली टिप्पणी को लेकर भाजपा के हमले पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा, संसद में शुक्रवार को भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं अपने भाषण के लिए माफी मांगूं। मुझे कहते हैं कि सही बात बोलने के लिए माफी मांगो। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा। मर जाऊंगा मगर माफी नहीं मांगूंगा औऱ न कोई कांग्रेस वाला माफी मांगेगा। उन्होंने कहा, मोदी जी को देश से माफी मांगनी है। उनके जो असिस्टेंट हैं, अमित शाह, उनको देश से माफी मांगनी है। राहुल गांधी ने दावा किया, कि हिंदुस्तान के सब दुश्मन चाहते हैं और चाहते थे कि हिंदुस्तान की शक्ति, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नष्ट की जाए। यह काम दुश्मनों ने नहीं किया, बल्कि हमारे प्रधानमंत्री ने किया और फिर अपने आप को प्रधानमंत्री देशभक्त कहते हैं।

 

मोदी जी ने देश की जनता को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखलाए : मनमोहन

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी सरकार पर अपने वादों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाया और दावा किया कि अब यह साबित हो गया है कि छह साल पहले किए गए वादे झूठे थे। सिंह ने रैली में कहा, कि आज से तकरीबन छह साल पहले मोदी जी ने देश की जनता को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखलाए थे। उन्होंने जनता से वादा किया था कि वो 2024 तक देश की राष्ट्रीय आमदनी को पांच हजार अरब डॉलर तक पहुंचा देंगे, किसानों से उन्होंने वादा किया था कि किसानों की आमदनी पांच साल में दोगुनी कर दी जाएगी। देश के नौजवानों से उन्होंने ये वादा किया था कि हम हर साल 2 करोड़ नए रोजगार के साधन मुहैया कराएंगे। उन्होंने कहा, भाइयों और बहनों! अब तो ये साबित हो गया कि ये सब वायदे झूठे थे और देश की जनता को गुमराह करने के लिए उन्होंने जो भी वायदे किए, उनको पूरा करने में ये बिल्कुल नाकाम रहे हैं।

युवाओं से प्रियंका गांधी ने कहा—आप अपनी आवाज उठाइये

 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए अपील की कि संविधान को बचाने और देश को विभाजन से बचाने के लिए सभी आवाज उठाएं। प्रियंका ने कहा कि यह देश प्रेम का देश है। अहिंसा का देश है। युवाओं के सपनों का देश है। यह ऐसा देश है जिसके फौजी देश के लिए जान देने का जज्बा रखते हैं। उन्होंने कहा, मैं कश्मीर से अरुणाचल तक सबसे कहना चाहती हूँ कि आप अपनी आवाज उठाइये। अगर हम चुप रहेंगे तो आम्बेडकर द्वारा लिखा गया संविधान खत्म हो जाएगा और देश का बंटवारा जो जाएगा। रैली के लिए पूरे मैदान में सोनिया, राहुल और प्रियंका के बड़े-बड़े कटआउट लगे थे तथा काई कार्यकर्ताओं ने प्याज की ऊंची कीमतों पर विरोध जताने के लिये प्याज की मालाएं पहन रखी थीं।

Tags:

1 Comment

  1. Khushboo December 14, 2019

    Good news

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *