LOADING

Type to search

बंगाल, तमिलनाडु, केरल, असम में कमल खिलाएगी BJP, लिया संकल्प

देश

बंगाल, तमिलनाडु, केरल, असम में कमल खिलाएगी BJP, लिया संकल्प

Share

–बिहार के साथ 58 सीटों के उपचुनाव को फतह करने पर दिया जोर
-भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की पहली बैठक, संभाला कार्यभार
–किसान जागरण अभियान, कोरोना संकट, श्रम कानूनों पर मंथन

(खुशूबू पाण्डेय)
नई दिल्ली /टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी की नई राष्ट्रीय टीम ने मंगलवार को औपचारिक रूप से अपना कार्यभार संभाल लिया। साथ ही बिहार सहित अगले वर्ष 2021 में पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु एवं पुड्डुचेरी में होने वाले विधानसभा के चुनावों में विजय पताका फहराने और कमल खिलाने का संकल्प लिया। इसको लेकर आज यहां भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रमुख जगत प्रकाश नड्डा ने की। इस मौके पर सभी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, संगठन मंत्रियों सहित राष्ट्रीय पदाधिकारियों की पूरी टीम मौजूद रही। इससे पहले सोमवार शाम को राष्ट्रीय महामंत्रियों की हाईलेवल बैठक हुई थी। बैठक में किसान जागरण अभियान, कोरोना संकट, श्रम कानूनों सहित अनेक विषयों पर चर्चा के साथ ही पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु एवं पुड्डुचेरी में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियों का जायजा लिया गया। इन राज्यों के प्रभारियों ने विस्तार से इस पर चर्चा की। इन राज्यों में पार्टी के सभी कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं और भारतीय जनता पार्टी इन चुनावों में अच्छी सफलता प्राप्त करेगी। इसके अलावा बिहार विधानसभा के चुनावों तथा मध्यप्रदेश और गुजरात सहित विभिन्न राज्यों की 58 विधानसभा सीटों के उपचुनावों के बारे में भी विचार विमर्श किया गया।

साथ ही आगामी चुनावों पर भी विस्तृत रूप से चर्चा हुई। वर्तमान में जो बिहार में चुनाव चल रहा है और मध्यप्रदेश, गुजरात मिलाकर 58 उपचुनाव भी हैं। बीजेपी को पूर्ण विश्वास है कि इन सब में भी कमल खिलेगा और बिहार में भी भारी बहुमत के साथ सरकार बनाएगी।
बैठक में तय हुआ कि किसान जागरण अभियान को जन-जन तक ले जाना है और लोगों को ये बताना कि किस प्रकार कांग्रेस राजनीतिक स्वार्थ के लिए माल एवं सेवा कर (जीएसटी) एवं नागरिकता संशोधन कानून की तरह ही कृषि सुधार कानूनों का विरोध कर रही है। भाजपा का मानना है कि देश का आम किसान नये कृषि कानूनों का समर्थन कर रहा है। एक दो राज्यों में राजनीतिक कारणों से विरोध हो रहा है।
इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने कोरोना संकट से निपटने के लिए जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस दूरदृष्टि एवं सूझबूझ का परिचय दिया है, उसके लिए उनके प्रति आभार व्यक्त किया। पीएम मोदी ने लगातार देश के कोरोना योद्धाओं का हौसला बढ़ाने का काम किया। आज देश में लोगों के स्वस्थ होने की दर 85 प्रतिशत और मृत्यु दर मात्र डेढ़ प्रतिशत है। उन्होंने चुनौती को अवसर में बदला और देश चंद महीनों में पीपीई किट के मामले में विश्व में दूसरे नंबर का उत्पादक देश बन गया।
बैठक में नए श्रम कानूनों के बारे में भी चर्चा हुई है। नये श्रम कानूनों से महिलाओं को पुरुषों के समान अधिकार, पारिश्रमिक मिल सकेगा, मेडिकल सुविधाएं और सामाजिक सुरक्षा भी अनिवार्य हुई है। असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को भी पेंशन सुनिश्चित हुई है। भाजपा कार्यकर्ता श्रम सुधार को लेकर श्रमिकों और जनता से संवाद करेंगे।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *