LOADING

Type to search

CAA को लेकर देशभर में घर-घर जाएगी BJP

देश

CAA को लेकर देशभर में घर-घर जाएगी BJP

Share

-सीएए के हर पहलुओं से जनता से रूबरू कराने का खाका तैयार
–भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 5 जनवरी को करेंगे शुभारंभ
–भाजपा के शीर्ष नेता चलाएंगे जागरुकता अभियान
–सीएए का समर्थन करने के लिए जारी किया टोल फ्री नंबर
–मिस्ड कॉल के जरिये सीएए को समर्थन देने का होगा आह्वान

(नीता बुधौलिया)

नई दिल्ली, 3 जनवरी : भारतीय जनता पार्टी संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर जागरुकता अभियान शुरू करने जा रही है। इस दौरान पार्टी के शीर्ष नेतृत्व घर-घर जाकर लोगों को नागरिकता कानून के बारे में सच्चाई से रूबरू करवाएगी। इसका शुभारंभ 5 जनवरी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह करेंगे।

यह अभियान 10 दिनों तक चलेगा जिस दौरान पार्टी का तीन करोड़ परिवारों से संपर्क करने का इरादा है। CAA का समर्थन करने के लिए टोल फ्री नंबर 8866288662 भी जारी किया है। पार्टी नेता देश की जनता से इस नंबर पर मिस्ड कॉल के जरिये नागरिकता संशोधन कानून को समर्थन देने का भी आह्वान करेंगे। कार्यक्रम के चित्र, समर्थन संदेश आदि सोशल मीडिया पर शेयर किये जायेंगे। पार्टी घर-घर संपर्क अभियान के तहत नागरिकता संशोधन कानून को समझाने के लिए साहित्य भी जनता के बीच बांटेगी।

भाजपा इस अभियान के जरिये कानून के खिलाफ कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों के प्रचार को भी निशाने पर लेना चाहती है। इसके लिए भाजपा ने सभी वरिष्ठ नेताओं की ड्यूटी भी लगाई है। इसके तहत पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा गाजियाबाद में रहेंगे। इसके अलावा केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अपने लोकसभा क्षेत्र लखनऊ, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी नागपुर और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जयपुर में पहले दिन अभियान का नेतृत्व करेंगी।

इसके अलावा सभी केंद्रीय मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्री, सभी उप-मुख्यमंत्री एवं पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता एक साथ इस कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जिस तरह कांग्रेस के नेतृत्व में कुछ विपक्षी पार्टियों द्वारा दुष्प्रचार फैलाया जा रहा है, हिंसा और तनाव उत्पन्न की राजनीति की जा रही है, उन सब भ्रांतियों को दूर करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने देशव्यापी जन-जागरण अभियान हाथ में लिया है।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए पार्टी महासचिव अनिल जैन ने कहा कि यह कांग्रेस है जिसने आजादी के समय धर्म के आधार पर देश का बंटवारा स्वीकार किया। विभाजन के बाद भारत ने तो अल्पसंख्यकों को बराबर का सम्मान और अधिकार दिया लेकिन पाकिस्तान में हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई एवं पारसी अल्पसंख्यक समुदायों पर भीषण अत्याचार किया गया।

सारी दुनिया जानती है कि किस तरह पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ दुव्र्यवहार हुआ। आज दुर्भाग्य की बात है कि कांग्रेस, आप पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, सपा, बसपा, राजद एवं कम्युनिस्ट पार्टियों द्वारा पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आये अल्पसंख्यक शरणार्थियों को नागरिकता दिए जाने का विरोध हो रहा है। आखिर ऐसे विरोध का कांग्रेस और उसकी विपक्षी पार्टियां साहस भी कैसे कर सकती है?

 

भारत का एक मात्र धर्म उसका संविधान है : भाजपा

भाजपा महासचिव अनिल जैन ने कहा कि भारतीय मुसलमानों के लिये नागरिकता से जुड़ी किसी भी कवायद से ङ्क्षचतित होने का कोई कारण नहीं है, चाहे वह राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) हो या NRC। उन्होंने कहा कि भारत का एक मात्र धर्म उसका संविधान है। उन्होंने कहा कि पार्टी का घोषणा-पत्र रहे राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लागू करने को लेकर जब भी कोई फैसला लिया जाएगा उस पर राष्ट्रव्यापी विमर्श होगा, लेकिन अभी ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। मुसलमानों में ङ्क्षचता को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव के तौर पर मैं पूरी जिम्मेदार के साथ कह सकता हूं कि किसी भी भारतीय मुसलमान के लिये कोई खतरा नहीं हो सकता चाहे जो भी व्यवस्था आए, वह चाहे एनपीआर हो या एनआरसी। जैन ने कहा, संविधान इन ङ्क्षचताओं का ध्यान रखेगा। भारत का सिर्फ एक धर्म है, जो संविधान है। उन्होंने विपक्षी दलों पर राजनीतिक कारणों से अल्पसंख्यकों को गुमराह करने का भी आरोप लगाया।

भाजपा ने बनाई अभियान के लिए 5 कमेटियां

जन-जागरण अभियान के पांच भाग हैं। इसी प्रकार जन-जागरण अभियान के अन्य चार कार्यक्रम हैं – संवाद समिति, विशेष सामाजिक संपर्क अभियान, सोशल मीडिया और मीडिया। इसका पहला भाग है ‘घर-घर संपर्क कार्यक्रम। घर-घर सम्पर्क कार्यक्रम के लिए छ: सदस्यों वाली एक केंद्रीय समिति बनी है, जिसकी अध्यक्षता भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन करेंगे। इसके अन्य सदस्य पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना, राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय, राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा, हरियाणा के संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट और संगठन मंत्री रविन्द्र राजू होंगे।

संवाद समिति की अध्यक्षता अरुण सिंह करेंगे

संवाद समिति की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्य सभा सांसद अरुण सिंह करेंगे। इस समिति में पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सत्या कुमार भी होंगे। संवाद समिति हर जिले में पत्रकार गोष्टी, रैलियाँ, बुद्धिजीवी सम्मेलन, प्रदेश स्तर पर तीन-चार बड़ी-बड़ी रैलियों के अतिरिक्त देश भर में लगभग एक लाख नुक्कड़ सभाएं आयोजित करेगी। इसी तरह पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेन्द्र यादव की अध्यक्षता में विशेष सामाजिक संपर्क कार्यक्रम के तहत विभिन्न क्षेत्रों कला, संस्कृति, खेल आदि के प्रमुख लोगों के साथ व्यक्तिगत संपर्क किया जाएगा और सीएए के बारे में स्पष्टता की जायेगी।

सोशल मीडिया आईटी सेल के हेड अमित मालवीय देखेंगे

सोशल मीडिया टीम आईटी सेल के हेड अमित मालवीय देखेंगे, जिनमें हिमाचल प्रदेश के संगठन मंत्री पवन उनका सहयोग करेंगे। मीडिया टीम में भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया सह-प्रमुख डॉ संजय मयूख के सहित सभी प्रवक्ता होंगे। यह टीम देश भर में लगभग 250 स्थानों पर प्रेस वार्ता आयोजित करेगी और नागरिकता संशोधन कानून पर स्पष्टता की जायेगी।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *