LOADING

Type to search

दिल्ली को बचाने के लिए सभी दल मतभेद भूलकर हाथ मिलाएं

दिल्ली देश

दिल्ली को बचाने के लिए सभी दल मतभेद भूलकर हाथ मिलाएं

Share

–सर्वदलीय बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री ने सभी दलों का किया आहवान
—गृहमंत्री अमित शाह ने संभाला मोर्चा, ताबड़तोड़ की बैठकें
-हर मतदान केंद्र पर कोविड-19 की जांच शुरू की जाएगी
–संपर्क का पता लगाने के लिए घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया जाएगा

(खुशबू पाण्डेय) 
नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : देश की राजधानी दिल्ली में कोविड-19 के फैलते कहर को रोकने के लिए मैदान में केंद्र सरकार उतर गई है। कमान खुद गृहमंत्री अमित शाह ने संभाला है। रविवार को ताबड़तोड़ बैठकों के बाद सोमवार को भी लगातार बैठकें हुईं। सोमवार को दिल्ली के सभी राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई। सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता खुद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने की। बैठक में उन्होंने कहा कि दिल्ली में सभी राजनीतिक दलों को अपने मतभेद भूलकर राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की लड़ाई में हाथ मिलाना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और बसपा के नेताओं ने इस बैठक में शिरकत की।

गृह मंत्री ने रविवार को दिल्ली सरकार और नगर निकायों के साथ चर्चा कर जांच सुविधाएं बढ़ाने सहित कई उपायों की घोषणा की थी। लोगों के बीच भरोसा पैदा करने के लिए राजनीतिक एकजुटता की पैरवी करते हुए अमित शाह ने चारों दलों से अपने कार्यकर्ताओं को दिल्ली सरकार के कोरोना वायरस के दिशा-निर्देशों को जमीनी स्तर पर लागू करवाने में मदद करने की अपील करने को कहा। अमित शाह ने कहा कि इन कदमों से जनता का विश्वास बढ़ेगा और दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति में जल्द सुधार होगा।

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने अमित शाह का हवाला देते हुए कहा कि सभी राजनीतिक दलों को अपने मतभेद भुला देने चाहिए और दिल्ली के लोगों के लिए साथ मिलकर काम करना चाहिए। उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरङ्क्षवद केजरीवाल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और दिल्ली के तीनों नगर निगमों के मेयर और आयुक्तों से रविवार को दो अलग-अलग बैठकों के बाद सरकार द्वारा किए गए फैसलों से शाह ने दलों को अवगत कराया।

लड़ाई में हम सबको एकजुट होना होगा

उपराज्यपाल और केजरीवाल सरकार के बीच अक्सर कई मुद्दों पर टकराव होते रहता है। आप सरकार आरोप लगाती है कि उपराज्यपाल भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के इशारे पर काम करते हैं।
प्रवक्ता ने कहा कि अमित शाह ने दिल्ली के लोगों के कल्याण के लिए केंद्र सरकार के फैसले को लागू करने में मदद के वास्ते दलों को अपने कार्यकर्ताओं को गोलबंद करने का आह्वान किया। प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने लोगों के हित में सभी दलों से राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठने को कहा । राजनीतिक एकजुटता से लोगों के बीच विश्वास पैदा होगा और राजधानी में महामारी की स्थिति सुधरेगी। शाह ने कहा कि हम सबको महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एकजुट होना होगा।

नए उपाय अपनाकर दिल्ली में कोविड-19 की जांच बढ़ानी है

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि हमें नए उपाय अपनाकर दिल्ली में कोविड-19 की जांच बढ़ानी है। उन्होंने कहा कि अगले दो दिनों में दिल्ली में कोरोना वायरस की जांच दोगुनी हो जाएगी। दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से हो रही बढ़ोतरी के मद्देनजर यह बैठक की गयी। रविवार की बैठक के बाद अमित शाह ने कहा था कि निरुद्ध क्षेत्र में हर मतदान केंद्र पर कोविड-19 की जांच शुरू की जाएगी और संक्रमण के ज्यादा मामले वाले इलाके में संपर्क का पता लगाने के लिए घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया जाएगा। शाह ने कहा था कि दिल्ली में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए बेड की किल्लत को देखते हुए मोदी सरकार ने रेलवे के 500 डिब्बों को मुहैया कराने का फैसला किया है। दिल्ली में 41,000 से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और 1,300 से अधिक लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *