Sunday, 23 September 2018
Blue Red Green

Home राज्य दिल्ली-एनसीआर

5 तारीख से 5 राज्य में 5 किलो का मिलेगा गैस सिलेंडर

नई दिल्ली, 2 अक्टूबर (ब्यूरो): देश की राजधानी नई दिल्ली में अकेले रहकर पढ़ाई एवं नौकरी करने वाले लाखों लोगों के लिए अच्छी खबर है। अब उन्हें खाना बनाने वाले छोटे गैस सिलेंडर के लिए इधर-उधर धक्के नहीं खाने पड़ेंगे। अब दिल्ली में आसानी से लोगों को 5 किलो का एलपीजी सिलेंडर मिलने लगेगा। इसकी शुरुआत 5 अक्टूबर को हो रही है। खाना पकाने वाला यह गैस सिलेंडर की  व्यवस्था अभी फिलहाल कुछ चुने हुए पेट्रोल पंपों पर ही उपलब्ध होगा। बाद में सभी सरकारी पेट्रोल पंपों पर यह सुविधा हो जाएगी। दिल्ली के अलावा यह व्यवस्था देश के 5 प्रमुख महानगरों मुबंई, कोलकाता, चेन्नई एवं बैंगलुरु में भी 5 अक्टूबर से शुरू हो रही है। पेट्रोलियम मंत्रालय ने इन खुदरा बिक्री केन्द्रों पर 5 किलो का गैस सिलेंडर बेचने की अनुमति दे दी है।  पेट्रोलियम मंत्रालय ने एलपीजी कनेक्शन की एजेंसी बदलने के लिये पोर्टेबिलिटी की भी शुरुआत की है। उपभोक्ता यह काम कंप्यूटर का बटन दबाकर कर सकते हैं। मंत्रालय के अनुसार 5 किलो का एलपीजी सिलेंडर अब देश के महानगरों में कंपनी द्वारा खुद चलाये जाने वाले पेट्रोल पंपों (कोको पंप) पर उपलब्ध होंगे। देशभर में इस तरह के कंपनी द्वारा खुद संचालित पेट्रोल पंपों की संख्या मात्र तीन प्रतिशत है। देश में कुल 47,000 पेट्रोल पंप हैं। ये सिलेंडर बाजार मूल्य पर बेचे जाएंगे। 14.2 किलो के घरेलू उपयोग वाले सिलेंडर का दाम इसके सब्सिडीयुक्त मूल्य 410 रुपये की तुलना में दोगुने से भी अधिक है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री एम. वीरप्पा मोइली 5 अक्तूबर को बैंगलुरु में 5 किलो के सिलेंडर की बिक्री की शुरुआत करेंगे। इस प्रकार के सिलेंडर की बिक्री शुरू में कंपनियों के पेट्रोल पंप पर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई और बैंगलुरु तक ही सीमित रहेगी।

जज पर पत्नी की हत्या का केस दर्ज

गुड़गांव।। पत्नी की मौत के मामले में पुलिस ने सीजेएम के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। इस मामले में सीजेएम के माता.पिता को भी आरोपी बनाया गया है। सीजेएम और उनके पैरंट्स के खिलाफ मृतक गीतांजलि गर्ग के भाई की शिकायत पर केस दर्ज किया गया। गीतांजलि के परिजनों ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

बुधवार शाम सिविल लाइन थाना पुलिस ने पुलिस लाइन के परेड ग्राउंड के पास से सीजेएम रवनीत गर्ग की पत्नी गीतांजलि गर्ग का शव बरामद किया था। मौके से सीजेएम का लाइसेंसी रिवॉल्वर भी बरामद किया गया था। मधुबन से आई बैलेस्टिक और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने यहां से कुछ सैंपल लिए थे। गीतांजलि के परिजनों ने आरोप लगाया कि यह हत्या है सूइसाइड नहीं। शुक्रवार शाम परिजन पुलिस कमिश्नर से मिले। यहां पर करीब आधे घंटे तक बातचीत के बाद उन्होंने कहा कि गीताजंलि खुशमिजाज थी। वह सूइसाइड नहीं कर सकती। उसकी हत्या की गई है।

इसके बाद देर रात गीतांजलि के परिजन सिविल लाइन पुलिस थाना पहुंचे। यहां पर उसके भाई पंचकूला निवासी प्रदीप अग्रवाल की शिकायत पर पुलिस ने सीजेएम के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया। इसकी जांच सब.इंस्पेक्टर राम अवतार को सौंपी गई है। सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरेश कुमार ने बताया कि पुलिस ने गीतांजलि के भाई की शिकायत पर सीजेएम पर हत्या का केस दर्ज किया है। इसमें उनके माता और पिता को भी आरोपी बनाया गया है।

शुक्रवार देर रात सिविल लाइन पुलिस थाने में पहुंचे मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि गीतांजलि की मौत के लिए सीजेएम व उसके माता पिता जिम्मेदार है। उनका आरोप है कि गीताजंलि की छह साल पहले 2007 में शादी हुई थी। इसके बाद से दोनों की दो बेटियां हुईं। इनमें से एक पांच साल की है और दूसरी दो साल की।

आरोप है कि रवनीत गर्ग अपनी पत्नी पर तीसरे बच्चे के लिए प्रेशर डाल रहे थे। उन्हें लड़के की चाह थी। गीतांजलि के भाई प्रदीप अग्रवाल का यह भी आरोप था कि गीतांजलि की मौत के बाद उसकी बेटियों से उन्हें नहीं मिलने दिया गया। एक सीनियर पुलिस ऑफिसर ने बताया कि मृतक के परिजनों ने सीजेएम पर तीसरे बच्चे व लड़के की चाह में गीतांजलि को तंग करने का आरोप लगाया है।

हाई प्रोफाइल मामला होने के बाद पुलिस इस केस में फूंक फूंक कर कदम रख रही है। पुलिस हर एंगल से इस केस की जांच में जुटी है। इस केस की जांच के लिए जहां एक एसीपी की नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया है। वहीं बैलेस्टिकए फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने भी यहां पहुंचकर कुछ सैंपल लिए। इसके अलावा सिविल लाइन थाना पुलिस की टीम भी इस मामले की बारीकियों को अवगत करने में जुटी है। मौके से मिले रिवाल्वर व कारतूस को पुलिस ने सील कर बैलेस्टिक एक्सपर्ट के सपुर्द कर दिया है। इसके अलावा बैलेस्टिक टीम को गीताजंलि के हाथ से लिए गन पाउडर के सैंपल को करनाल मधुबन की लैब में जांचा जाएगा।

फॉरेंसिक टीम भी कई एंगल से इस मामले की जांच में जुटी है। एसआईटी लीडर एसीपी अशोक बख्शीए एसीपी पंखुड़ी कुमारए इंस्पेक्टर नरेश कुमारए सब.इंस्पेक्टर जयपाल व सब इंस्पेक्टर सरोज बाला इस टीम में शामिल हैं।

16 दिसंबर का गैंगरेप : जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड आज सुना सकता है फैसला

नई दिल्ली: दिल्ली के बहुचर्चित 16 दिसंबर को चलती बस में हुए गैंगरेप के मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड गुरुवार को अपना फैसला सुना सकता है। इस मामले में एक किशोर को भी आरोपी बनाया गया था जिसका मामला जुवेनाइल कोर्ट में चल रहा था।

मार्च में चाजर्शीट के बाद इस आरोपी के खिलाफ मामला शुरू हो गया था और पांच दिन पहले ही बोर्ड ने इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था।

पुलिस ने अपनी जांच रिपोर्ट में आरोप लगाया था कि अन्य पांच आरोपियों के अलावा इस किशोर ने न केवल लड़की से बलात्कार किया बल्कि उसके साथ सबसे ज्यादा हैवानियत की, जबकि किशोर ने बोर्ड के सामने पुलिस पर फंसाने के आरोप लगाए।

पुलिस की ओर से इस मामले में छह गवाह भी पेश किए गए जिसमें लड़की का दोस्त भी शामिल है, हालांकि अब ये आरोपी व्यस्क हो चुका है।

42 नई रेलगाडियां इस वर्ष चलाई जाएंगी, -33 मेल-एक्सप्रेस व 9 पैसेंजर रेलगाडियां चलेंगी

नई दिल्ली, 28 जून (सुनील पाण्डेय) रेलयात्री कृपया ध्यान दें, इस वर्ष आपकी सुविधा के लिए कुल 42 नई रेलगाडियां चलाई जाएंगी, जिसमें 33 मेल/एक्सप्रेस रेलगाडियां हैं और 9 पैसेंजर /ईएमयू/एमईएमयू/डीईएमयू ट्रेन चलेगी। इसमें से 3 रेलगाड़ी पूरी तरह से वातानुकूलित है। कुल ट्रेनों में 11 मेल/एक्सप्रेस एवं 2 पैसेंजर रेलगाड़ी पंजाब-चंडीगढ़ से जुड़ी हैं। जिससे पंजाब के लाखों मुसाफिरों को फायदा मिलेगा।  

इसके अलावा 17 रेलगाडियों (15 एक्सप्रेस व 2 पैसेंजर)के सेवा दिनों में  बढ़ोतरी की गई है, जबकि 10 रेलगाडियों के सेवा दिनों में परिवर्तन किया गया है। 2 रेलगाडियों के नंबर एवं 2 के मार्ग में परिवर्तन हुआ है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि करीब 106 रेलगाडियों के प्रस्थान समय में परिवर्तन किया गया है, जबकि 85 रेलगाडियों के आगमन समय में परिवर्तन हुआ है। कुल 6 रेलगाडियां ऐसी हैं, जिनको अतिरिक्त ठहराव दिया गया है।

उत्तर रेलवे के मुताबिक यह नई व्यवस्था 1 जुलाई 2013 से प्रभावी होगी। उत्तर रेलवे के अनुसार 1 रेलगाड़ी को कैंसिल किया गया है।

यह जानकारी उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विजय कुमार गुप्ता ने आज यहां नई दिल्ली में दी। इस मौके पर उन्होंने नई समय-सारणी को लांच किया, जो 1 जुलाई 2013 से प्रभावी होगी। गुप्ता के मुताबिक पिछले वर्ष उत्तर रेलवे को 15 रेलगाड़ी मिली थी, जबकि इस वर्ष 42 ट्रेन है। यह नई रेलगाडियां 31 मार्च के पहले चलने लगेंगी। हालांकि, एक दो रेलगाडियां चलने भी लगी हैं। सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो पहली वातानुकूलित ट्रेन नई दिल्ली से कटरा के बीच (सप्ताह में छह दिन) अगस्त-सितम्बर में चलने लगेगी। इस ट्रेन का लाभ माता वैष्णों देवी का दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं को सीधे मिलेगा। यह ट्रेन नई दिल्ली से चलकर अंबाला छावनी, लुधियाना, जालंधर छावनी, चक्कीबैंक, जम्मूतवी, ऊधमपुर होते हुए कटरा स्टेशन पहुंचेगी। इसके अलावा दूसरी वातानुकूलित एक्सप्रेस (नई साप्ताहिक) अमृतसर से लालकूंआ के बीच चलेगी। तीसरी एयरकंडीशन ट्रेन लोकमान्य टर्मिनस से हजरत निजामुद्दीन के बीच (साप्ताहिक) चलेगी।

इस मौके पर गुप्ता ने कहा कि उत्तर रेलवे ने अपने यात्रियों को सुविधा प्रदान करने के लिए अनेक उपाय किए हैं । उन्होंने यात्री शिकायतों के क्षेत्र में किए जा रहे उपायों की ओर ध्यान खींचते हुए कहा कि रेलयात्री अपनी शिकायतें मोबाइल नं0 9717630982 पर एसएमएस द्वारा भेज सकते हैं । उन्होंने उत्तर रेलवे के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हो रही विभिन्न उपलब्धियों की सराहना भी की ।

SMS के जरिए रेल टिकट बुकिंग की हुई शुरुआत

नई दिल्ली : देश में मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वालों की बढती संख्या को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने शुक्रवार को एसएमएस के जरिये रेलवे टिकट बुक कराने की एक नई सुविधा की शुरूआत की।

रेल मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज यहां रेल भवन में इस नई सेवा का शुभारंभ करते हुए कहा कि इससे न सिर्फ लोगों को सहूलियत होगी बल्कि उनका समय भी बचेगा और साथ ही इससे टिकट बुकिंग में दलाली की घटनाओं को रोकने में भी ममद मिलेगी।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एवं टुरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) की ओर से पायलट आधार पर शुरू की गई इस सुविधा के तहत कोई भी अपने मोबाइल फोन से एसएमएस करके रेल टिकट बुक करा सकेगा। इसके लिए जरूरी नहीं कि उसके मोबाइल फोन में इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध हो।

रेल टिकट बुकिंग की यह सुविधा सभी मोबाइल उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध होगी। इसके लिए दो एसएमएस करना जरूरी होगा। प्रति एसएमएस तीन रूपये का शुल्क लगेगा और भुगतान गेटवे की सुविधा के लिए पांच से दस रुपये का शुल्क लगेगा। इस सेवा के लिए अभी दो फोन नंबर 139 और 5676714 तय हैं। इसके अलावा बीएसएनएल और एयरटेल के उपभोक्ताओं को भी यह सुविधा उपलब्ध होगी।

आईआरसीटीसी में रजिस्टर्ड यूजर इस सेवा का इस्तेमाल कर सकेंगे। यात्रा के दौरान मोबाइल पर प्राप्त एसएमएस और आईडी प्रूफ दिखाने की जरूरत होगी। एसएमएस के प्रिंटआउट की जरूरत नहीं होगी। गौरतलब है कि वर्ष 2012-13 के रेल बजट में इस सुविधा को शुरू करने की घोषणा की गई थी।

रेल मंत्री ने बताया कि फिलहाल रेल टिकट बुकिंग का करीब 45 फीसदी हिस्सा आनलाइन बुक्रिग का है। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले वर्षों में पीआरएस और इंटरनेट से ज्यादा रेल टिकट की बुकिंग मोबाइल फोन से एसएमएस के जरिये होगी।


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%

  Search