Monday, 21 May 2018
Blue Red Green

Home राज्य दिल्ली-एनसीआर

दिल्ली विधानसभा में मुख्यमंत्री पद को लेकर 'महाभारतÓ

नई दिल्ली,: भारतीय जनता पार्टी में पहले प्रधानमंत्री पद के लिए मारामारी हुई तो अब दिल्ली विधानसभा में मुख्यमंत्री पद को लेकर 'महाभारतÓ छिड़ गया है। दिल्ली की बागडोर किसे मिलेगी यह तो अभी तक फाइनल भी नहीं हुआ है, लेकिन प्रदेश ईकाई के कई नेता अपने आप को मुख्यमंत्री प्रत्याशी होने की हवा भी छोड़ दी है।

लगातार मंथन के बावजूद बीजेपी दिल्ली में अपना सीएम कैंडिडेट तय ही नहीं कर पा रही है। सभी अपना ढ़ोल पीट रहे हैं। यह दीगर है कि कुछ नेता गुपचुप तरीके से तो कुछ नेता खुलेआम मीडिया तक पहुंच गए हैं। दो दिन से मीडिया की सुर्खियां बने इन नेताओं की हरकत से भाजपा हाईकमान भी हैरान है।

यही कारण है कि भारतीय जनता पार्टी ने आज सभी के सपनों को तोड़ते हुए यह स्पष्ट कर दिया है कि अभी दिल्ली के लिए किसी भी मुख्यमंत्री प्रत्याशी का चयन नहीं हुआ है। इस मामले पर कोई भी फैसला पार्टी के संसदीय बोर्ड द्वारा लिया जाएगा।  इसके लिए आगामी रविवार 20 अक्टूबर को पार्टी के चुनाव समिति की बैठक होगी जिसमें नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक में दिल्ली के लिए भाजपा के सीएम प्रत्याशी के नाम का ऐलान किया जाएगा।
भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं दिल्ली चुनाव के पार्टी प्रभारी नितिन गडकरी ने कहा, दिल्ली विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में उतारने के लिए भाजपा ने किसी भी नेता का चयन अभी नहीं किया है। इस संदर्भ में संसदीय बोर्ड द्वारा ही अंतिम फैसला लिया जाएगा।Ó गडकरी का यह बयान इन कयासों के बाद आया है, जिनमें कहा गया था कि पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने मुख्यमंत्री पद की दावेदारी के लिए अपनी पसंद सिर्फ पूर्व मंत्री हर्ष वर्धन तक ही सीमित रखी है। वर्धन की छवि काफी साफ सुथरी है और दिल्ली पार्टी के समर्थकों के बीच उनकी स्वीकार्यता काफी व्यापक है।
उधर, पार्टी के सूत्रों का कहना है कि दिल्ली के कई वरिष्ठ नेताओं ने केंद्रीय नेतृत्व के समक्ष प्रदेश प्रमुख विजय गोयल के काम करने के तरीके पर नाराजगी जाहिर की है।

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली बीजेपी में सीएम उम्मीदवार को लेकर हो रहे विवाद को निपटाने के लिए एवं सीएम उम्मीदवार के चयन के लिए बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह,  रामलाल और दिल्ली बीजेपी के प्रभारी नितिन गडकरी विशेष मीटिंग किए. लेकिन इसमें कोई फैसला नहीं हो पाया है। इसलिए सीएम कैंडिडेट के नाम का फैसला अब पार्टी की संसदीय बोर्ड पर छोड़ दिया गया है।
उधर, कांग्रेस पार्टी, भारतीय जनता पार्टी में दिल्ली में मुख्यमंत्री प्रत्याशी को लेकर छिड़े आपसी विवाद का चटकारा ले रही है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि भाजपा में केंद्र की तरह अब दिल्ली में भी प्रत्याशी को लेकर झगड़ा हो रहा है। आगे पता नहीं क्या होगा। लेकिन इतना तो तय है कि हर्षवर्धन या फिर गोयल में से अगर किसी एक के नाम पर मुहर लगती है तो भाजपा में एक बार फिर बगावत होनी तय है, जिसका पूरा लाभ कांग्रेस पार्टी को मिलेगा।
----------------------

दिल्‍ली-एनसीआर में तेज बारिश, अगले 12 घंटे बारिश का अलर्ट

नई दिल्‍ली/नोएडा : दिल्‍ली और आसपास के इलाकों में शुक्रवार सुबह से ही भारी बारिश जारी है। लगातार तेज बारिश के चलते सड़कों पर ट्रैफिक काफी धीमा हो गया है। वहीं, अधिकांश इलाके में काफी जलभराव हो गया है। उधर, अगले 12 घंटे में लगातार बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

जगह-जगह पर पानी जमा होने के कारण आम लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में आज तेज बारिश होने की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मौसम सुबह में सामान्य था, लेकिन करीब सात बजे अचानक मौसम ने करवट ली और हल्की फुहारों के साथ शुरू हुई बारिश धीरे-धीरे तेज होती चली गई। इसके चलते कई इलाकों में सड़कों में जलभराव हो गया। जलभराव होने से राजधानी के कई इलाकों में जाम की स्थिति पैदा हो गई।

बारिश होने से दिल्ली में अधिकतम तापमान में 4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। हालांकि सुबह का तापमान औसत से 2 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रिकॉर्ड किया गया था। मौसम विभाग ने आज दोपहर में बारिश की संभावना जताई थी। विभाग के मुताबिक अगले तीन-चार दिनों में भी दिल्ली-एनसीआर में गरज के साथ छीटें पड़ सकती हैं। दिल्ली-एनसीआर में कई स्थानों पर लोगों को ऑटो रिक्शा और रिक्शा के लिए दौड़-भाग करते देखा गया। सड़कों पर जलभराव होने से यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई, जिसकी वजह से कई इलाकों में भारी जाम लग गया।

दिल्‍ली में यूपी के विधायक की पत्नी की हत्या

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के एक विधायक की पत्नी की बुधवार सुबह दिल्ली स्थित उनके आवास पर हत्या हो गई।

पुलिस ने बताया कि उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के विधायक हाजी अलीम की पत्नी रेहाना (40) पूर्वी दिल्ली के न्यू जाफराबाद स्थित अपने घर पर थीं, जबकि उनके पति हाजी अलीम हज पर गए हुए थे। पुलिस को संदेह है कि हत्या मंगलवार देर रात या बुधवार तड़के हुई है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हत्यारा आसानी से घर में घुसा था। )

कुरुक्षेत्र के मैदान में छिड़ेगा सरकार के खिलाफ 'संग्राम

नई दिल्ली, 2 अक्तूबर () : इनेलो ने हरियाणा दिवस को हरियाणा के निर्माता चौधरी देवीलाल के 1 नवम्बर जन्मदिवस के रूप में मनाने और इस बार कुरुक्षेत्र में राज्यस्तरीय रैली करने का निर्णय लिया है। यह फैसला इनेलो राज्य कार्यकारिणी की बुधवार को दिल्ली में हुई बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने की। इस मौके पर गन्ने का भाव 375 रुपए, धान का भाव 1600 रुपए किए जाने, हरियाणा में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति, बढ़ती महंगाई, स्पीकर की पक्षपातपूर्ण भूमिका, नौकरियों में धांधली व भाई-भतीजावाद की निंदा करते हुए सरकार की तीखी आलोचना की। इसके अलावा आधा दर्जन अलग-अलग प्रस्ताव भी रखे किए गए जिन्हें सर्वस मति से पारित कर दिया गया।

इस मौके पर चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने हुड्डा सरकार के घपलों, घोटालों एवं भ्रष्टाचार को लेकर सरकार की तीखी आलोचना की। एक प्रस्ताव पारित कर हरियाणा विधानसभा के स्पीकर द्वारा पूरे विपक्ष को विधानसभा सत्र के पहले दिन पूरे सत्र के लिए निलंबित किए जाने और सरकार के इशारे पर कांग्रेस कार्यकत्र्ता के रूप में कार्य करते हुए प्रजातंत्र को पैरों तले रोंदने की आलोचना की गई। बैठक में पूर्व विधायक निशान सिंह द्वारा रखे गए एक प्रस्ताव में हुड्डा सरकार द्वारा की गई 1983 पीटीआई शिक्षकों की भर्ती में धांधली को एक गंभीर मामला बताते हुए कहा कि अदालत के फैसले ने सरकार के घोटालों को उजागर कर दिया है। बैठक में अन्य पदों पर भी हुड्डा सरकार द्वारा भर्तियों में की गई धांधली का उल्लेख करते हुए इन सभी भर्तियों की उच्चस्तरीय जांच हाईकोर्ट के कार्यरत न्यायधीश की देखरेख में करवाए जाने और दोषियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए जाने की मांग की। पूर्व कृषि मंत्री जसविंदर सिंह संधू द्वारा रखे गए एक अन्य प्रस्ताव में कहा गया कि हुड्डा सरकार द्वारा गन्ने के भाव को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हैं, जबकि इससे किसानों का लागत मूल्य भी पूरा नहीं होता। इनेलो ने गन्ने की अगेती किस्म का सरकारी भाव 375 रुपए और धान का 1600 रुपए क्विंटल दिए जाने और धान की सरकारी खरीद तुरंत शुरू किए जाने की मांग की।
इस मौके पर पूर्व डीजीपी एमएस मलिक द्वारा रखे गए एक अन्य प्रस्ताव में प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि कांग्रेस सांसद एवं राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग के अध्यक्ष पीएल पूनिया की इस टिप्पणी से सरकारी पोल खुल जाती है कि अब हरियाणा एक बलात्कारी प्रदेश बन गया है। प्रस्ताव में रोहतक के बहुचर्चित अपना घर कांड, गोहाना कांड, रोहतक विश्वविद्यालय की एमबीए छात्रा के साथ गैंगरेप और प्रदेश में घटी अन्य घटनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है और सरकार व प्रशासन अपराधियों के हाथों की कठपुतली बनकर रह गए हैं। बैठक में सांसद रणबीर प्रजापति द्वारा रखे गए एक अन्य प्रस्ताव से डीजल, रसोई गैस एवं अन्य जरूरी वस्तुओं के दामों में की गई अनावश्यक बढ़ौतरी की निंदा करते हुए जरूरी वस्तुएं उचित दामों पर उपलब्ध करवाकर आम लोगों को राहत प्रदान किए जाने की मांग की गई। बैठक में रखे गए सभी प्रस्ताव सर्वस मति से पारित कर दिए गए।
बैठक राज्यसभा सांसद रणबीर प्रजापति, तेलू राम जोगी, पूर्व मंत्री केएल शर्मा, सुरेंद्र मदान, जगदीश नैयर, जगदीश यादव, कृष्ण पंवार, मोह मद इलियास, सतबीर कादियान व शीला यान सहित पार्टी के सभी विधायकों, प्रदेश पदाधिकारियों, जिला, हलका व शहरी अध्यक्षों और विभिन्न प्रकोष्ठों के संयोजकों ने हिस्सा लिया।

दिल्ली में पहली बार लगा चाय और कॉफी का मेला

नई दिल्ली, 2 अक्टूबर (ब्यूरो): राजधानी दिल्ली में चाय और कॉफी का 3 दिवसीय महोत्सव आयोजित किया गया। राजधानी में यह पहला ऐसा मौका था जहॉ चाय और कॉफी इंडस्ट्री से जुडें उत्पादक, रीटेलर, ट्रेडर्स व आम आदमी से लेकर सभी ने एक साझा किया और इस क्षेत्र की बारीखियों को समझा व जाना। इस उत्सव का आयोजन एड्रेस इंडिया कम्पनी की निदेशक सोनाली सुबुधी द्वारा किया गया। इसका उद्घाटन बेलारूस के एंबेस्डर बिटाले ए प्राइमा ने आज किया।  
    बेलारूस इस आयोजन का सहभागी देश है यह हमारे लिये गर्व की बात है। बेलारूस तथा भारत दोनों हमेशा से ही एक दूसरें के साथ अच्छे व्यापारिक संबंध रखते हैं, और आगे भी दोनों देश व्यापारिक संभावनाओं और सांस्कृतिक रिश्तों को मजबूत करेगेें। बेलारूस में भारत के टी उत्पादकों और रीटैलरों के लिए बहुत संभावनाएं है।
    आयोजक सोनाली सुबुधी ने कहा कि इस इंडस्ट्री पर बहुत शोध कार्य किया है। इस आयोजन से इंडस्ट्री से जुड़े सारे लोगों को एक साथ आने का मौका मिले और वह इसकी बारीखियों को समझे और लगातार हो रहे बदलाव के साझेदार बने। चाय हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का एक ऐसा हिस्सा है जिससें हम अपने हर दिन की शुरूआत करते हैं। परन्तु हम इसके बारे में अभी बहुत कम ही जानते हैं। इस मौके पर की बोर्ड ऑफ इंडिया के निदेशक जॉय दीप विश्वास, फेडरेशन ऑफ टी ट्रेडर्स एसोसिऐशन के अध्यक्ष आ.सी. अग्रवाल, कॉफी बोर्ड ऑफ इंडिया के बी.आर गोड़ा, नेसले आदि मौजूद रहे।


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%

  Search