Wednesday, 13 December 2017
Blue Red Green

Home राज्य दिल्ली-एनसीआर जज पर पत्नी की हत्या का केस दर्ज

जज पर पत्नी की हत्या का केस दर्ज

गुड़गांव।। पत्नी की मौत के मामले में पुलिस ने सीजेएम के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। इस मामले में सीजेएम के माता.पिता को भी आरोपी बनाया गया है। सीजेएम और उनके पैरंट्स के खिलाफ मृतक गीतांजलि गर्ग के भाई की शिकायत पर केस दर्ज किया गया। गीतांजलि के परिजनों ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

बुधवार शाम सिविल लाइन थाना पुलिस ने पुलिस लाइन के परेड ग्राउंड के पास से सीजेएम रवनीत गर्ग की पत्नी गीतांजलि गर्ग का शव बरामद किया था। मौके से सीजेएम का लाइसेंसी रिवॉल्वर भी बरामद किया गया था। मधुबन से आई बैलेस्टिक और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने यहां से कुछ सैंपल लिए थे। गीतांजलि के परिजनों ने आरोप लगाया कि यह हत्या है सूइसाइड नहीं। शुक्रवार शाम परिजन पुलिस कमिश्नर से मिले। यहां पर करीब आधे घंटे तक बातचीत के बाद उन्होंने कहा कि गीताजंलि खुशमिजाज थी। वह सूइसाइड नहीं कर सकती। उसकी हत्या की गई है।

इसके बाद देर रात गीतांजलि के परिजन सिविल लाइन पुलिस थाना पहुंचे। यहां पर उसके भाई पंचकूला निवासी प्रदीप अग्रवाल की शिकायत पर पुलिस ने सीजेएम के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया। इसकी जांच सब.इंस्पेक्टर राम अवतार को सौंपी गई है। सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरेश कुमार ने बताया कि पुलिस ने गीतांजलि के भाई की शिकायत पर सीजेएम पर हत्या का केस दर्ज किया है। इसमें उनके माता और पिता को भी आरोपी बनाया गया है।

शुक्रवार देर रात सिविल लाइन पुलिस थाने में पहुंचे मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि गीतांजलि की मौत के लिए सीजेएम व उसके माता पिता जिम्मेदार है। उनका आरोप है कि गीताजंलि की छह साल पहले 2007 में शादी हुई थी। इसके बाद से दोनों की दो बेटियां हुईं। इनमें से एक पांच साल की है और दूसरी दो साल की।

आरोप है कि रवनीत गर्ग अपनी पत्नी पर तीसरे बच्चे के लिए प्रेशर डाल रहे थे। उन्हें लड़के की चाह थी। गीतांजलि के भाई प्रदीप अग्रवाल का यह भी आरोप था कि गीतांजलि की मौत के बाद उसकी बेटियों से उन्हें नहीं मिलने दिया गया। एक सीनियर पुलिस ऑफिसर ने बताया कि मृतक के परिजनों ने सीजेएम पर तीसरे बच्चे व लड़के की चाह में गीतांजलि को तंग करने का आरोप लगाया है।

हाई प्रोफाइल मामला होने के बाद पुलिस इस केस में फूंक फूंक कर कदम रख रही है। पुलिस हर एंगल से इस केस की जांच में जुटी है। इस केस की जांच के लिए जहां एक एसीपी की नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया है। वहीं बैलेस्टिकए फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने भी यहां पहुंचकर कुछ सैंपल लिए। इसके अलावा सिविल लाइन थाना पुलिस की टीम भी इस मामले की बारीकियों को अवगत करने में जुटी है। मौके से मिले रिवाल्वर व कारतूस को पुलिस ने सील कर बैलेस्टिक एक्सपर्ट के सपुर्द कर दिया है। इसके अलावा बैलेस्टिक टीम को गीताजंलि के हाथ से लिए गन पाउडर के सैंपल को करनाल मधुबन की लैब में जांचा जाएगा।

फॉरेंसिक टीम भी कई एंगल से इस मामले की जांच में जुटी है। एसआईटी लीडर एसीपी अशोक बख्शीए एसीपी पंखुड़ी कुमारए इंस्पेक्टर नरेश कुमारए सब.इंस्पेक्टर जयपाल व सब इंस्पेक्टर सरोज बाला इस टीम में शामिल हैं।

Add comment


Security code
Refresh


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%

  Search