Thursday, 24 May 2018
Blue Red Green

रसीलें होठ से झलकता है आपका सेक्सी स्वभाव!

हम आपको अपने आलेख "काली आंखो व छोटी नाक वाली महिलाएं होती है सेक्सी" में आकृति विज्ञान के बारे में जानकारी दे चुके है। आइये इसी श्रृंखला को आगे ब़डाते हुए आज जाने कि कैसे होठ, आइब्रो और ठो़डी भी आपके स्वभाव व व्यक्तिव की जानकारी देते है। ज्यादातर पुरूषो को महिलाओ के होंठ बहुत आर्कषित करते है, भीगे-भीगे गुलाबी होठं सभी के आर्कषण का केन्द्र होते है आइये जाने कुछ दिलचस्प तथ्य होठो की बनावट के बारे में

होंठ:- यदि होंठ लाल, पतले चिकने, अच्छी आकृति वाले होते है तो ऎसे होठो वाली महिलाएं स्वभाव से सेक्सी तथा पति का प्यार पाने वाली होती है। अगर होंठ मोटे, भारी तथा चौ़डे है तो महिला व्यभिचारी हो सकती है अगर नींचला होंठ लाल, गोल व एक पतली रेखा वाला है तो यह महिला बहुत भाग्यशाली तथा धनवान होती है। परन्तु अगर नीचला होंठ मोटा तथा रंग मे काला है तो यह महिलाएं स्वभाव से संदिग्ध चरित्र वाली तथा अपने पति को खो सकती है। यदि नीचला होंठ सूखा लंबा व पतला हो तो यह बीमारी का संकेत है।

ठोडी :- एक गोल, मुलायम तथा सु़डौल ठो़डी अच्छे भाग्य की संकेत है। जब ठो़डी शाकार, भारी, मोटी, गोल होती है तो ये महिलाएं जल्दी गुस्से वाली तथा जल्दी निर्णय लेने वाली होती है। वह गोपनीय ,हानिकारक स्वकेन्द्रित तथा जिंन्दगी में परेशानियां झेलने वाली हो सकती है। अगर किसी महिला की ठो़डी में डिंपल है तो वह हंसमुख, प्यार करने वाली, दयालु ह्वदय वाली होने के साथ-साथ जीवन के लिए जरूरी धन संपदा मे कम भाग्यशाली होती है। लंबी ठो़डी वाली महिलाएं पूर्ण सांसारिक सुखो की इच्छा रखने वाली तथा चरित्रहीन होती है।

आइब्रो(भौहें) :- जब भौहें धनुष की तरह हो, और बाल नरम तथा न कम न ज्यादा हो तो ये महिलाएं खूबसूरत तथा भाग्यशाली व चरित्रवान होती है। बहुत ही कम या ना के बराबर बाल वाली भौहें रखने वाली महिलाएं र्दुभाग्यशाली होती है। अगर भौहे नाक के ऊपर बीच मे मिलती है तो यह विधावापन का संकेत है। ये महिलाएं दुष्ट और धोखेबाज होती है। सीधी लंबी व मोटी तथा बीच बीच में से टूटी हुई भौहे बदनसीबी का प्रतीक है। पलको के उपर घुमावदार, काली नरम तथा थो़डी मोटी भौहो वाली महिलाएं भाग्यशाली होती है।

Add comment


Security code
Refresh


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%