Friday, 16 November 2018
Blue Red Green

परिवार ने सिखाया 'सहना मत': बहादुर बहनें


रोहतक

बस में छेड़छाड़ के मामले में युवकों की पिटाई करने वालीं बहनों पूजा और आरती का एक और विडियो वायरल हुआ है। इस पर उन्होंने कहा कि बदतमीजी करने वालों को वे पहले भी सबक सिखाती रही हैं। एक पुराना विडियो वायरल हो जाने के बाद आरोपी पक्ष दावा कर रहा है कि लड़कियां सुनियोजित ढंग से लड़कों से उलझती हैं और मारपीट करने के बाद उन्हें ब्लैकमेल करती हैं। इस विडियो में भी दोनों बहनें रोहतक बस स्टैंड के सामने स्थित हुडा सिटी पार्क में एक युवक की पिटाई कर रही हैं। कुछ युवक पास खड़े दिखाई दे रहे हैं। यह विडियो क्लिप करीब एक महीना पुराना बताया जा रहा है।



पूजा ने एनबीटी से कहा कि उनकी फैमिली ने उन्हें बदतमीजी को चुपचाप बर्दाश्त करना नहीं सिखाया है। पार्क में एक लड़के ने उनके साथ बदतमीजी की थी तो उसे सबक सिखाना पड़ा था। पूजा ने कहा कि यह मालूम नहीं है कि विडियो किसने बनाया है। विडियो सामने आया है तो अच्छा है, इस लड़के के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।



उन्होंने कहा कि कि बदतमीजी करने वालों को पहले भी ठीक किया है और किसी ने इस तरह के और भी विडियो बनाए हों तो क्या किया जा सकता है? आगे भी ऐसा करने वालों को यूं ही जवाब दिया जाएगा।

विडियो में लड़के को पीटते हुए गाली देने को लेकर उठाए जा रहे सवाल पर पूजा और आरती ने कहा कि ऐसे तर्क भी दिए जा रहे हैं कि शरीफ लड़कियां घर वालों की बदनामी नहीं होने देतीं, चुपचाप सिर झुकाए छेड़खानी सहकर घर आ जाती हैं। हम ऐसी लड़कियां नहीं हैं। क्या छेड़खानी करने वाले सही हैं और हम उनसे लड़ने और गुस्से में गालियां देने से खराब हो गए? न गालियां हमने बनाई हैं, न हमें गालियां देने का शौक है।

पूजा और आरती ने मंगलवार को अपने गांव की एक महिला के रोहतक में मीडिया के सामने पहुंचकर पहनावे और मोबाइल फोन के आधार पर चरित्र पर सवाल खड़े किए जाने और कई दूसरे आपत्तिजनक आरोपों पर कहा कि लड़कियां हिम्मत से आगे बढ़ती हैं तो उन्हें यही सुनना पड़ता है। लड़कियों को लेकर गैरजिम्मेदारी से कुछ भी कह देना आसान है।

उन्होंने कहा कि इन महिलाओं को हमारे घर आकर हमसे बात करनी चाहिए। पूजा ने इस तर्क की खिल्ली उड़ाई कि बार-बार हमारे साथ झगड़ा होता है तो हमें गलत करार दे दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर लड़की को बार-बार छेड़खानी का सामना करना पड़ता है लेकिन उस पर चुपचाप सबकुछ सहने का चौतरफा दबाव रहता है। अगर बार-बार छेड़खानी होगी तो बार-बार प्रतिरोध भी होगा और इसे कोई गलत मानता है तो मानता रहे।

सोनीपत जिले के गांव थाना खुर्द निवासी पूजा और आरती रोहतक के राजकीय महिला कॉलेज के बीसीए फाइनल इयर की स्टूडेंट हैं। दोनों का कॉलेज रेकॉर्ड बेहतरीन है। कॉलेज की प्रिंसिपल लक्ष्मी बेनीवाल दलाल का कहना है कि दोनों की लड़ाई झगड़े की कभी कोई शिकायत नहीं आई है। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों के बीसीए सेकंड इयर के रिजल्ट में दोनों बहनों की पजिशन 22वीं और 24 वीं रही है। मंगलवार को दोनों बहनें एग्जाम देने रोहतक आई थीं।

Add comment


Security code
Refresh


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%