Wednesday, 13 December 2017
Blue Red Green

सचिन के 200वें टेस्ट के मैच स्थल पर फैसला टला

नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के खिलाफ शृंखला का कार्यक्रम तय करने के लिए बीसीसीआई की दौरा एवं कार्यक्रम निर्धारण समिति की बुधवार को मुंबई में होने वाली बैठक एक सप्ताह के लिए टाल दी गई है।

बैठक स्थगित करने का फैसला इसलिए किया गया क्योंकि इस पर कोई साफ संकेत नहीं मिल रहे थे कि सचिन तेंदुलकर के 200वें टेस्ट मैच की मेजबानी कौन सा शहर करेगा। इस ऐतिहासिक मैच की मेजबानी की दौड़ में हालांकि मुंबई और कोलकाता आगे हैं।

बीसीसीआई सचिव संजय पटेल ने कहा कि बीसीसीआई ने बैठक की तिथि और स्थान के बारे में अभी फैसला नहीं किया है। दौरा एवं कार्यक्रम निर्धारण समिति के एक सदस्य ने बताया कि बैठक एक सप्ताह के लिए टाल दी गई है।

मुंबई तेंदुलकर का घरेलू शहर है और वह उनके 200वें टेस्ट मैच की मेजबानी का हकदार है लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने संकेत दिए हैं कि यह मैच वानखेड़े के बजाय क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया के ब्रेबोर्न स्टेडियम को सौंपा जाएगा।

बीसीसीआई सूत्रों के अनुसार श्रीनिवासन मुंबई क्रिकेट संघ को यह मैच नहीं देना चाहते हैं क्योंकि केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार का इस इकाई का अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है।

श्रीनिवासन और पवार अभी अलग-अलग गुट में हैं और यही वजह है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सीसीआई को मैच देना चाहते हैं। यदि बीसीसीआई और एमसीए के मतभेद बने रहे तो फिर बोर्ड की रोटेशन नीति के हिसाब से कोलकाता के ईडन गार्डन्स को मेजबानी मिल सकती है। बेंगलूर का चिन्नास्वामी और अहमदाबाद का मोटेरा भी मेजबानी की दौड़ में शामिल हैं।

विशेषज्ञों की राय में कौन है सर्वश्रेष्ठ सचिन या लारा

नई दिल्ली, सचिन तेंदुलकर सर्वश्रेष्ठ हैं या ब्रायन लारा।यह चर्चा पिछले दो दशकों से क्रिकेट जगत में समय समय पर उठती रही है और कई दिग्गजों ने इस पर अलग-अलग राय दी है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने यह कहकर कि लारा ने अपनी टीम के लिए सचिन से अधिक मैच जीते हैं, इस चर्चा को फिर से नया रूप दे दिया।
 
वैसे पोंटिंग ने 2003 में तेंदुलकर को लारा, मैथ्यू हेडन और स्टीव वॉ से ऊपर आंका था। पोंटिंग ने उस समय कहा था, मेरी हमेशा से यह राय रही है कि मैं जिन बल्लेबाजों के साथ या खिलाफ खेला उनमें वह (तेंदुलकर) सर्वश्रेष्ठ है। यदि हम पुराने मैचों पर गौर करें तो असल में उन्होंने कई अवसरों पर अकेले दम पर हमारे खिलाफ मैच जीते। तेंदुलकर और लारा दोनों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन इस देश के अधिकतर क्रिकेटरों की नजर में भारतीय बल्लेबाज बेहतर है।
 
वर्ष 2000 में ऑस्ट्रेलिया में 145 प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों पर किए गए सर्वे में 68 प्रतिशत ने तेंदुलकर को सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज करार दिया था। स्टीव वॉ को तब 27 प्रतिशत और लारा को केवल तीन प्रतिशत मत मिले थे। स्वयं लारा शुरू से ही तेंदुलकर के बड़े प्रशंसक रहे हैं और उन्होंने समय समय पर इस भारतीय बल्लेबाज की तारीफ की। जब वह खेलते थे तब उन्होंने एक बार कहा था, सचिन जीनियस है।
 
मैं तो साधारण व्यक्ति हूं। मुझे अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने की जरूरत है। मैं सचिन तेंदुलकर या फिर उनके जैसा बनना चाहूंगा। तेंदुलकर ने जिन गेंदबाजों को दिन में तारे दिखाये हैं उनमें शेन वार्न भी शामिल हैं और ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज की नजर में सचिन का जवाब नहीं। उन्होंने 2004 में कहा था, इसमें कोई संदेह नहीं कि मेरे समय के बल्लेबाजों में सचिन तेंदुलकर सर्वश्रेष्ठ है। दिन की रोशनी का नंबर दूसरा है और ब्रायन लारा तीसरे नंबर आता है। ऑस्ट्रेलिया के ही एक अन्य तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा जब खेला करते थे तब उनसे भी लारा और सचिन में सर्वश्रेष्ठ कौन का सवाल पूछा गया था। इसके जवाब में मैक्ग्रा ने कहा था, मेरे लिए, वह तेंदुलकर है। दोनों ही बेहतरीन बल्लेबाज हैं लेकिन मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मुझे तेंदुलकर की तुलना में लारा के खिलाफ अधिक सफलता मिली है। उसका रक्षण तेंदुलकर की तरह मजबूत नहीं है।
 
दुनिया में सर्वश्रेष्ठ की चर्चा में मैं तेंदुलकर का नाम लूंगा। मैक्ग्रा के साथ कई अवसरों पर नई गेंद संभालने वाले जैसन गिलेस्पी ने भी तेंदुलकर को बेहतर आंका था। उन्होंने एक बार कहा था, मेरे विचार में वह तेंदुलकर हैं जो इन दोनों में उपर हैं। वह लारा की तुलना में मानसिक रूप से अधिक मजबूत है और उनकी तकनीक भी बेहतर है। मेरे विचार से लारा की तुलना में तेंदुलकर के प्रदर्शन में अधिक निरंतरता है। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वकार यूनिस ने तेंदुलकर को मानसिक रूप से अधिक मजबूत बताया था। उन्होंने 1989 में तेंदुलकर की पहली सीरीज को याद करते हुए कहा था, मैं कभी नहीं भूल सकता कि 16 साल के तेंदुलकर ने मेरा तेज बाउंसर नाक पर लगने के बावजूद बल्लेबाजी की। मैं समझता हूं कि लारा की तुलना में तेंदुलकर मानसिक रूप में अधिक मजबूत हैं।
 
पाकिस्तान के ही पूर्व कप्तान वसीम अकरम, श्रीलंका के स्टार गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन और दक्षिण अफ्रीका के बैरी रिचडर्स की नजर में लारा इन दोनों में ऊपर हैं। अकरम ने कहा था, यदि आप मुझसे पूछोगे कि मैंने जिन बल्लेबाजों को गेंदबाजी की उनमें सर्वश्रेष्ठ कौन है तो वह तेंदुलकर या लारा नहीं बल्कि मार्टिन क्रो है। वह शानदार बल्लेबाज था। जहां तक तेंदुलकर और लारा का सवाल है तो मैं इन दोनों को अपनी टीम में रखना चाहूंगा। आखिर कौन ऐसा नहीं चाहेगा। मुरलीधरन ने कहा था, मैंने लारा की तुलना में तेंदुलकर के खिलाफ अधिक क्रिकेट खेली है। इन दोनों को गेंदबाजी करना मुश्किल है लेकिन मेरा मानना है कि तेंदुलकर की तुलना में लारा ने मेरी गेंदों का सामना अच्छी तरह से किया। मुझे लारा अधिक मजबूत लगे। अपने जमाने के दिग्गज सलामी बल्लेबाज बैरी रिचर्ड्स ने भी इन दोनों के बीच तुलना के सवाल पर कहा था, सचिन की तुलना में लारा बेहतर बल्लेबाज है क्योंकि जब भी वह ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला तो उसने बड़े स्कोर बनाए और आंकड़े भी इसका समर्थन करते हैं।
 
पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक का मानना था कि तेंदुलकर का विकेट लेना आसान नहीं है। उन्होंने कहा था, दोनों के अपने खास गुण है लेकिन मैं समझता हूं कि तेंदुलकर उतने मौके नहीं देता जितने लारा देता है। सचिन अपना विकेट आसानी से नहीं गंवाता। तेंदुलकर और लारा की तुलना करना बेहद मुश्किल है।
 
सकलैन की तरह वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज रोहन कन्हाई ने भी कहा था कि इन दोनों की तुलना नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा था कि मुझे उसे (तेंदुलकर) खेलते हुए देखने में मजा आता है और वह शानदार खिलाड़ी है। लेकिन हमारे पास भी लारा जैसा शानदार खिलाड़ी है। मैं उससे भी प्रेरित हूं। इन दोनों खिलाड़ियों में अभी आप तुलना नहीं कर सकते।

चंदीला व अन्य की जमानत पर होगी एक जुलाई को सुनवाई

नई दिल्ली, 26 जून(ब्यूरो)आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आरोपी राजस्थान रायल्स के क्रिकेटर अजित चंदीला व दो अन्य की जमानत अर्जियों पर दिल्ली की एक अदालत ने सुनवाई एक जुलाई के लिए टाल दी है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश राज रानी मित्रा ने चंदीला के अलावा बुकी रमेश व्यास व दीपक कुमार की जमानत अर्जियों पर भी सुनवाई के लिए एक जुलाई की तारीख तय की है। इस मामले में खुद आरोपियों के वकीलों ने ही जमानत अर्जी पर सुनवाई टालने की मांग की थी।

हालांकि पुलिस ने इन आरोपियों की जमानत अर्जियों का विरोध करते हुए कहा कि यह सभी आरोपी अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम व छोटा शकील के इशारे पर काम कर रहे थे। इतना ही नहीं चंदीला इस पूरे षड्यंत्र में मुख्य साजिशकर्ता था।

दिल्ली की कुड़ी ने किया उमेश को बोल्ड


नई दिल्ली, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद भारत और दिल्ली डेयरडेविल्स के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने सोमवार को नागपुर में दिल्ली की फैशन डिजाइनर तानिया वाधवा के साथ सगाई की।

डेयरडेविल्स टीम के महत्वपूर्ण सदस्य उमेश बेंगलुरु में टीम के अभ्यास सत्र से एक दिन की छुट्टी लेकर सगाई के लिये घर पहुंचे थे। यह 26 वर्षीय तेज गेंदबाज आईपीएल समाप्त होने के बाद 29 मई को तानिया से शादी करेगा।

उमेश ने सगाई समारोह के बाद कहा कि हम दिल्ली में मिले थे और इसके बाद हमारी दोस्ती बढ़ती गयी। मैंने उसके सामने शादी का प्रस्ताव रखा। हमने एक साल तक एक-दूसरे को समझने और दोनों परिवारों की सहमति के बाद शादी का फैसला किया।

उमेश और तान्या ने साथ ही शादी के लिए पंजीकरण करवा भी लिया है। उन्होंने कहा कि आईपीएल के बाद हम 29 मई को विवाह बंधन में बंध जाएंगे। मैं सगाई के लिए बेंगलुरु से सीधे यहां आया हूं।

दिल्ली की रहने वाली 24 वर्षीय फैशन डिजाइनर तान्या ने कहा कि यह पहली नजर का प्यार नहीं था और यह धीरे-धीरे परवान चढ़ा। मैं उन्हें एक बेहतर इंसान के रूप में पसंद करती हूं और मैं उन्हें उनके करियर पर सलाह देती रही हूं।

मुंबई बना आईपीएल-6 का चैंपियन


कोलकाता, । कीरोन पोलार्ड की विस्फोटक पारी और गेंदबाजी के तूफान के दम पर मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को 23 रन से हराकर आईपीएल-6 का खिताब अपने नाम कर लिया। जीत के लिए मिले 149 रन के लक्ष्य के सामने चेन्नई की टीम 20 ओवर में नौ विकेट खोकर 125 रन बना सकी। चेन्नई के लिए कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने सर्वाधिक नाबाद 63 रन बनाए।

इससे पहले मुंबई इंडियन्स ने नौ विकेट पर 148 रन का स्कोर खड़ा किया। पोलार्ड ने केवल 32 गेंदों पर सात चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 60 रन बनाए। उनके अलावा अंबाती रायुडु ने 37 रन का योगदान दिया। आईपीएल में छह में सर्वाधिक 32 विकेट लेकर पर्पल कैप हासिल करने वाले ब्रावो ने 42 रन देकर चार जबकि एल्बी मोर्कल ने तीन ओवर में 12 रन देकर दो विकेट लिए।
 
स्पॉट फिक्सिंग के साए में ईडन गार्डन्स पर खेले जा रहे फाइनल में रोहित शर्मा का उमस भरे वातावरण में पहले बल्लेबाजी का फैसला उलटा पड़ गया। मुंबई ने पहली 20 गेंद और 16 रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाज और कप्तान का विकेट गंवा दिया। पिछले दो मैचों अर्धशतक जमाने वाले ड्वेन स्मिथ (4) पहले ओवर में ही मोहित शर्मा की गेंद को आगे बढ़कर रक्षात्मक रूप से खेलने के प्रयास में एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। मोर्कल ने अगले ओवर की पहली गेंद पर आदित्य तारे को बोल्ड कर दिया। कप्तान रोहित ने तो चेन्नई को अपना विकेट इनाम में दिया। मोर्कल के अगले ओवर में उन्होंने शार्ट पिच गेंद पर वापस गेंदबाज को कैच थमाया। दिनेश कार्तिक (26 गेंद पर 21 रन) और रायुडु ने अगले छह ओवर तक विकेट नहीं गिरने दिया जो तब मुंबई के लिये जरूरी था। क्रिस मौरिस ने कोण लेती गेंद पर कार्तिक को बोल्ड करके रायुडु के साथ उनकी 36 रन की साझेदारी तोड़ी। दसवें ओवर तक स्कोर 58 रन था लेकिन पोलार्ड के क्रीज पर कदम रखने के बाद स्कोर ने कुछ गति पकड़ी। इस कैरेबियाई आलराउंडर ने आर अश्विन पर पारी का पहला छक्का जमाया और फिर रविंदर जडेजा पर दो चौके जड़े। जब लग रहा था कि मुंबई की स्थिति सुधर रही है तब ब्रावो ने रायुडु का मिडिल स्टंप उखाड़ दिया। रायुडु ने अपनी पारी में चार चौके लगाए और पोलार्ड के साथ पांचवें विकेट के लिए 48 रन जोड़े। पोलार्ड का साथ देने के लिए क्रीज पर उतरे हरभजन ने ब्रावो के अगले ओवर में तीन चौके जड़े लेकिन आखिर में गेंदबाज की चली। हरभजन फ्रंट फुट पर आकर सही टाइमिंग से शाट नहीं जमा पाए और डीप कवर में माइकल हसी ने कैच करने में कोई गलती नहीं की। ब्रावो ने अपने आखिरी ओवर में मिशेल जॉनसन और लेसिथ मालिंगा को भी आउट करके इस सत्र में अपने विकेटों की संख्या 32 पर पहुंचाई लेकिन पोलार्ड ने उनकी आखिरी दो गेंदों पर छक्के जड़कर स्कोर 150 रन के करीब पहुंचाया।


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%