Wednesday, 17 October 2018
Blue Red Green

Home देश फिर नक्सली हमला, अधिकारी शहीद

फिर नक्सली हमला, अधिकारी शहीद

रायपुर: छत्तीसगढ़ में शनिवार को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक अधिकारी शहीद हो गया।
सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षा बल के जवानों के दस्ते का नेतृत्व कर रहे असिस्टेंट कमांडेंट एसके दास राज्य के गरियाबंद जिले के जंगलों में गश्त पर निकले थे, जब उनकी हथियारबंद एक नक्सली दस्ते से मुठभेड़ हो गई। गोलीबारी में दास को पेट और कमर के हिस्से में गोलियां लगीं। दास इस इलाके के विशेष नक्सल विरोधी अभियान के लिए 211 बटालियन से जुडे सीआरपीएफ जवानों के दल का नेतृत्व कर रहे थे।  उल्लेखनीय है कि 25 मई को नक्सलियों द्वारा दरभा घाटी में कांग्रेस के एक काफिले पर किए गए बर्बर हमले में 27 लोगों की मौत हो गई थी। इस नरसंहार में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नंद कुमार पटेल और सलवा जुडूम आंदोलन के संस्थापक महेंद्र कर्मा समेत कांग्रेस के कई बडे नेताओं को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। नक्सली हमले में जान गंवाने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा के पीएसओ ने भी शनिवार को अस्पताल में दम तोड़ दिया। 25 मई को कांग्रेस के काफिले पर हुए इस हमले में अब तक जान गंवाने वालों की कुल संख्या 28 तक जा पहुंची है।

रामकृष्ण केयर अस्पताल के डॉक्टर संदीप दवे के मुताबिक, ‘हमले में गोलीबारी से पीएसओ सियाराम सिंह की आंतों में गंभीर जख्म हो गए थे। जिससे उनके शरीर के कई हिस्सों में संक्रमण पैदा हो गया था। इस वजह से उनके कई अंगों ने एकसाथ काम करना बंद कर दिया, जिससे उनकी मौत हो गई।’

दवे ने कहा कि हमले में घायल दस और लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। वे सभी खतरे से बाहर हैं। छत्तीसगढ़ सैन्य बल के जवान बिहार निवासी सियाराम माना कैंप की चैथी बटालियन में श्रद्धांजलि दी गई।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमले का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा कि शुक्रवार को नक्सलियों ने सलवा जुडूम के 20 नेताओं की हिटलिस्ट जारी कर दी। सुकमा जिले के डीएम को लिखे पत्र में नक्सलियों की दरभा डिवीजनल कमेटी ने 20 लोगों को जान से मारने की धमकी दी।
शुक्रवार को गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने रायगढ़ जिले के नादेली गांव जाकर दिवंगत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल के परिजनों से मुलाकात की थी।

शिंदे ने कहा था कि आने वाले दिनों में बस्तर इलाके में नक्सलियों के खिलाफ केंद्रीय बल और प्रदेश पुलिस मिलकर कार्रवाई करेंगे।

हमले के बारे में खुफिया नाकामी पर गृहमंत्री ने कहा कि जांच से सच्चाई का खुलासा हो जाएगा। हमले के पीछे राजनीतिक साजिश के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

Add comment


Security code
Refresh


Amount of short articles:
Amount of articles links:

Photo Gallery

Poll

सही है, तथ्यों पर आधारित लेख है - 100%
गलत है, धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं - 0%
बता नहीं सकते - 0%

  Search