LOADING

Type to search

कोरोना : भारत में रिकवरी दर 90 प्रतिशत, सक्रिय मामलों में कमी

स्वास्थ्य

कोरोना : भारत में रिकवरी दर 90 प्रतिशत, सक्रिय मामलों में कमी

Share

—पिछले 24 घंटों में 50,129 नए पुष्‍ट मामले सामने आए
—कुल पॉजिटिव मामलों का 8.5 प्रतिशत, पिछले एक हफ्ते से 1000 से कम मौतें
—कोरोना जांच प्रयोगशालाओं की संख्‍या 2000 से अधिक हुई

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : भारत ने कोरोना से लड़ाई में एक और ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल कर ली है और आज कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की राष्‍ट्रीय रिकवरी दर 90 प्रतिशत हो गई। पिछले 24 घंटों में 62,077 मरीज ठीक हुए हैं और इन्‍हें अस्‍पताल से छुट्टी दी जा चुकी है तथा नए पुष्‍ट मामलों की संख्‍या 50,129 है। कुल मामलों के 90 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं। यह उपलिब्‍ध कोरोना के सक्रिय मामलों में लगातार आ रही कमी से हासिल हुई है और पिछले तीन दिनों से यह 7 लाख से नीचे ही है। इस समय देश में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्‍या 6,68,154 है और सक्रिय मामले इनका 8.5 प्रतिशत हैं। कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और अब तक 70,78,123 मरीज ठीक हो चुके हैं।

यह भी पढें…पंजाब में BJP की पहली सरकार फरवरी 2022 में बनेगी…पढें पूरा इंटरब्यू

अधिक लोगों के ठीक होने से यह अंतर लगातार बढ़ता ही जा रहा है और कोरोना के सक्रिय मामलों तथा ठीक होने वाले मरीजों का अंतर 64 लाख से अधिक (64,09,969) हो चुका है। पिछले एक हफ्ते से लगातार 1000 से कम मौतें सामने आ रही हैं और 2 अक्‍टूबर से मौतों का आंकड़ा 1100 से नीचे है।
कोरोना के अब तक जितने नए मरीज ठीक हुए हैं उनमें से 75 प्रतिशत मरीज 10 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों : महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, दिल्‍ली, आंध्र प्रदेश, असम, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ से हैं। महाराष्‍ट्र इस श्रेणी में सबसे ऊपर है जहां एक दिन में 10,000 से अधिक मरीज ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 50,129 नए पुष्‍ट मामले सामने आए हैं। कुल नए मामलों का 79 प्रतिशत 10 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों से हैं तथा केरल एक ऐसा राज्‍य है जहां 8000 से अधिक नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं, इसके बाद महाराष्‍ट्र का स्‍थान है जहां 6000 से अधिक नए मामले देखे जा रहे हैं।

यह भी पढें…भारत ने पाबंदी हटाई, अब जा सकते हैं विदेश, वीजा को किया बहाल

पिछले 24 घंटों में 578 मौतें हुईं हैं और इनमें से 80 प्रतिशत मौतें 10 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों में दर्ज की गई हैं। महाराष्‍ट्र में सबसे अधिक 137 लोगों की मौत हुई है।
भारत में आज कोरोना जांच प्रयोगशालाओं के नेटवर्क में भी एक और उपलब्धि हासिल की गई है और अब देश में ऐसे प्रयोगशालाओं की संख्‍या 2000 से अधिक हो गई है। शुरू में पुणे में मात्र एक प्रयोगशाला थी लेकिन अब इनकी संख्‍या 2003 है जिनमें 1126 सरकारी प्रयोगशालाएं और 877 निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाएं शामिल हैं।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *