LOADING

Type to search

बिना मेहरम के हज यात्रा पर जाएंगी 2340 महिलाएं

दुनिया देश

बिना मेहरम के हज यात्रा पर जाएंगी 2340 महिलाएं

Share

—2 लाख भारतीय मुसलमान सब्सिडी बगैर करेंगेहज यात्रा
— हज यात्रियों की सहायता के लिए 620 हज कोर्डिनेटर नियुक्त
–हज यात्रियों की मेडिकल सुविधा के लिए पुख्ता इंतजाम

(खुशबू पांडेय)

नई दिल्ली : देश के 2 लाख भारतीय मुसलमान इस वर्ष बिना किसी सरकारी सब्सिड़ी के हज यात्रा करेंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसके अलावा इस वर्ष बिना मेहरम (पुरुष रिश्तेदार) के हज यात्रा पर जाने वाली महिलाओं की संख्या पिछले वर्ष के मुकाबले दोगुनी हो गई है। इस वर्ष 2340 महिलाएं बिना मेहरम के हज पर जा रही हैं, जबकि पिछले वर्ष यह संख्या 1180 थी। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी बिना मेहरम के हज पर जाने के लिए आवेदन करने वाली इन सभी महिलाओं को बिना लाटरी के हज यात्रा पर जाने की व्यवस्था की गई है। खास बात यह है कि भारत से जाने वाले 2 लाख हज यात्रियों में लगभग 48 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं। हज पर जाने वाले हज यात्रियों की सहायता के लिए भारत सरकार ने 620 हज कोर्डिनेटर, असिस्टेंट हज अफसर, हज असिस्टेंट, डॉक्टर, पारा-मेडिक आदि की सऊदी अरब में नियुक्ति की गई ह,ै जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हैं।


जानकारी के मुताबिक देश भर के 21 हवाई अड्डों से 500 से ज्यादा फ्लाइटों के जरिये रिकॉर्ड 2 लाख भारतीय मुसलमान बिना किसी सब्सिडी के हज पर जायेंगे। इन हज यात्रियों में 1 लाख 40 हजार हज यात्री हज कमिटी ऑफ इंडिया और 60 हजार हज यात्री हज ग्रुप ऑर्गनाइजर (एचजीओ) के जरिये हज पर जायेंगे। हज समूह आयोजकों को भी 10 हजार हज यात्रियों को हज कमिटी ऑफ इंडिया के निर्धारित पैकेज पर ही ले जाना होगा।

भारत का हज कोटा 2 लाख किये जाने से यूपी—बिहार में उत्साह


हज यात्रियों की मेडिकल सुविधा के लिए मक्का में 16 और मदीना में 3 हेल्थ सेंटर की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा मक्का में 3 हॉस्पीटल और मदीना में 1 हॉस्पिटल की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा सऊदी अरब द्वारा भारत का हज कोटा 2 लाख किये जाने का नतीजा है कि आजादी के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, बिहार सहित देश के सभी बड़े प्रमुख राज्यों से सभी हज आवेदक हज 2019 पर जा रहे हैं।

4 जुलाई से शुरू होगी हज के लिए फ्लाइट्स


केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के मुताबिक हज के लिए फ्लाइट्स 04 जुलाई 2019 से शुरू हो रही है। 04 जुलाई को दिल्ली, गया, गुवाहाटी, श्रीनगर से फ्लाइट्स जाना शुरू होंगी। बंगलुरु (07 जुलाई), कालीकट (07 जुलाई), कोचीन (14 जुलाई), गोवा (13 जुलाई), मंगलोर (17 जुलाई), मुंबई (14 जुलाई, 21 जुलाई), श्रीनगर (21 जुलाई) से हज यात्री रवाना होंगे। दूसरे चरण में अहमदाबाद (20 जुलाई), औरंगाबाद (22 जुलाई), भोपाल (21 जुलाई), चेन्नई (31 जुलाई), हैदराबाद (26 जुलाई), जयपुर (20 जुलाई), कोलकाता (25 जुलाई), लखनऊ (20 जुलाई), नागपुर (25 जुलाई), रांची (21 जुलाई) और वाराणसी (29 जुलाई) को हज यात्री जाना शुरू होंगे।

हज के लिए दिल्ली में ट्रेनिंग कार्यक्रम


हज की सफलता के लिए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज नई दिल्ली में हज कोर्डिनेटर, हज असिस्टेंट आदि के दो दिवसीय ट्रेनिंग कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस दौरान नकवी ने कहा कि हज यात्रियों की सुरक्षा एवं बेहतर सुविधा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार ने प्रभावी कदम उठाये हैं और इस विषय पर कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दो दिवसीय ट्रेनिंग कार्यक्रम में हज पर नियुक्त किये जाने वाले कोर्डिनेटर, असिस्टेंट आदि को हज से सम्बंधित विभिन्न प्रक्रियाओं, मक्का-मदीना में हाजियों के आवास, यातायात, स्वास्थ्य, सुरक्षा से सम्बंधित मुद्दों की जानकारी दी जाएगी।

Tags:

1 Comment

  1. S pandey June 25, 2019

    बहुत अच्छा प्रयास

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *