LOADING

Type to search

लोकसभा में नंबर-2 राजनाथ, संसदीय दल में नंबर-2 बने अमित शाह

देश

लोकसभा में नंबर-2 राजनाथ, संसदीय दल में नंबर-2 बने अमित शाह

Share

—17वीं लोकसभा के लिए भाजपा ने घोषित की संसदीय दल की कार्यकारिणी
— प्रह्लाद जोशी को बनाया सरकार का मुख्य सचेतक
— राज्यसभा में अरूण जेटली की जगह लेंगे थावरचंद, सदन का नेता नियुक्त
—पीयूष गोयल को बनाया राज्यसभा में उपनेता, रविशंकर की जगह लेंगे

(परमिंदर पाल सिंह )

नईं दिल्ली 12 जून : भारतीय जनता पार्टी ने सत्रहवीं लोकसभा के लिए अपने संसदीय दल की कार्यकारिणी का गठन किया है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी को नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को उपनेता बनाया गया है। जबकि, राज्यसभा में पूर्व वित्तमंत्री अरूण जेटली की जगह अब केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत को सदन का नेता नियुक्त किया गया है। इसके अलावा रेल मंत्री पीयूष गोयल को राज्यसभा में पार्टी का उपनेता नियुक्त किया गया है। दो बार राज्यसभा के सदस्य रहे गोयल केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद का स्थान लेंगे जो लोकसभा के लिए निर्वाचित हो गए हैं। इन नियुक्तियों में खास बात यह है कि संसदीय दल की कार्यकारिणी की लिस्ट में गृहमंत्री अमित शाह का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद नंबर-दो पर कायम है। यह दर्जा भाजपा अध्यक्ष की हैसियत से पहले की तरह ही बरकार है। लिहाजा, ऐसा लगता है कि अमित शाह हाल फिलहाल अध्यक्ष की कुर्सी पर बने रहेंगे।
पार्टी के कार्यालय सचिव बाला सुब्रहमण्यम कामर्सु के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह के निर्देशन में इन कमेटियों का गठन किया गया है। बुधवार को पार्टी की तरफ से संसदीय दल की कार्यकारिणी के पदाधिकारियों की सूची जारी की गई। लिस्ट के मुताबिक रक्षामंत्री राजनाथ सिंह लोकसभा में भाजपा का उपनेता बनाया गया है। वह सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद नंबर-दो की हैसियत में होंगे। लेकिन, मंगलवार को होने वाली भाजपा संसदीय दल की बैठक में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह प्रधानंमत्री मोदी के बाद नंबर-टू पर कायम हैं।
इसके अलावा सरकार का मुख्य सचेतक संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी को बनाया गया है। लोकसभा में सरकार के उप मुख्य सचेतक संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल होंगे। जबकि राज्यसभा में उप मुख्य सचेतक संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन होंग। लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक बिहार से लोकसभा सांसद संजय जायसवाल को सदन में अपना मुख्य सचेतक बनाया है। वह अनुराग ठाकुर का स्थान लेंगे जो नयी मोदी सरकार में मंत्री बन गए हैं। जबकि, राज्यसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक नारायण लाल पंचारिया होंगे।
इसी प्रकार भाजपा संसदीय दल के सचिव पद पर लोकसभा में सचिव गणेश सिंह और राज्यसभा में भूपेंद्र यादव होंगे। जबकि, गोपाल शेटटी को संसदीय दल का कोषाध्यक्ष बनाया गया है।

लोकसभा में 18 सांसदों को बनाया सचेतक, 3 महिलाएं शामिल

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा में 18 सांसदों को सचेतक बनाया है, जिनमें प्रतिमा भौमिक, सुनील सिंह, दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा, किरीट भाई सोलंकी, जुगल किशोर शर्मा, नलिन कुमार कतील, सुधीर गुप्ता, संतोष पांडे, केएम पाटिल, सुरेश पुजारी, कनक मल कटारा, अजय मिश्रा, भानु प्रताप सिंह वर्मा, पंकज चौधरी, खगेन मुर्मू, रंजनाबेन भट्ट, शोभा करंदलाजे एवं पश्चिम बंगाल से पहली बा चुनाव जीती लॉकेट चटर्जी शामिल हैं। इसमें तीन महिलाओं को शामिल किया गया है।

राज्यसभा में 6 सचेतक बनाएं

इसी प्रकार भाजपा ने राज्यसभा में 6 सचेतक बनाए हैं। इसमें अमरशंकर साबले, शमशेर सिंह मन्हास, पंजाब के राज्यसभा सांसद श्वेत मलिक, चुन्नीभाई गोहेल, अजय प्रताप सिंह और अशोक बाजपेयी शामिल हैं।

गडकरी, रविशंकर, स्मृति ईरानी, नड्डा, निर्मला विशेष आमंत्रित सदस्य


लोकसभा में कार्यकारिणी के विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, अर्जुन मुंडा, नरेंद्र सिंह तोमर, स्मृति ईरानी, जोएल उरांव को शामिल किया गया है। इसी प्रकार राज्यसभा में जेपी नड्डा, ओम प्रकाश माथुर, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान, और प्रकाश जावड़ेकर को कार्यकारिणी के विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है।

पार्लियामेंट्री पार्टी आफिस में कैलाश विजयवर्गीय की एंट्री

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी आफिस का इंचार्ज बनाया गया है। कैलाश विजयवर्गीय पश्चिम बंगाल के प्रभारी हैं, जिन्होंने कड़ी मेहनत करके 18 सीटों पर जीत दर्ज करायी है। जबकि, बाला सुब्रहमण्यम कामर्सु को पार्लियामेंट्री पार्टी आफिस का सचिव नियुक्त किया गया है। बाला अभी भी इस जिम्मेदारी को संभालते रहे हैं।

आडवाणी, जोशी, सुषमा, जेटली लिस्ट से गायब

नवगठित भाजपा संसदीय दल की कार्यकारिणी समिति पार्टी में पीढ़ीगत बदलाव को दिखाती है। शायद पहली बार लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी उसका हिस्सा नहीं हैं। दोनों अब सांसद नहीं हैं। उनके अलावा जेटली और सुषमा स्वराज भी उसके सदस्य नहीं हैं। कार्यकारिणी समिति की पहली बैठक लोकसभा का सत्र शुरू होने से एक दिन पहले 16 जून को अपराह्न साढ़े तीन बजे होगी।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *