LOADING

Type to search

अब चलती ट्रेन में कराएं मसाज, चैन से करें सफर

देश मनोरंजन स्वास्थ्य

अब चलती ट्रेन में कराएं मसाज, चैन से करें सफर

Share

–39 ट्रेनों से शुरू हो रही है मसाज की सुविधा, रेटकार्ड घोषित
–सिर की चम्पी और पैरों की तेल मालिश की सुविधा
–भारतीय रेलवे की अनोखी पहल, 15-20 दिन में सुविधा शुरू
–परीक्षण सफल रहा तो लंबी दूरी की ट्रेनों में मिलेगी सुविधा

(अदिति सिंह)

नई दिल्ली : रेलगाडिय़ों में सफर करने वाले लाखों मुसाफिरों के लिए एक खुशखबरी है। यात्रा के दौरान अगर उन्हें थकान या सिर में दर्द की शिकायत है तो अब चलती ट्रेन में उनके शरीर का मसाज हो जाएगा। शुरुआत में सिर की चम्पी एवं पैर में तेल मालिश की सुविधा मिलेगी। यह सुविधा सुबह छह बजे से रात 10 बजे के बीच यात्रियों की मांग पर उपलब्ध होगी। मसाजर उनकी सीट पर जाकर सिर की चम्पी करेंगे और पैरों की तेल मालिश करेंगे। इसके लिए हर गाड़ी में तीन से पांच प्रशिक्षित मसाजर यानी मालिश करने वाले तैनात रहेंगे।

इसकी शुरुआत भारतीय रेलवे के रतलाम मंडल की ओर से हो रही है। पश्चिम रेलवे के रतलाम मंडल ने इंदौर से शुरू होने वाली 39 ट्रेनों में मालिश की सुविधा शुरू करने की घोषणा की है। इनमें मालवा एक्सप्रेस, नयी दिल्ली इंटरसिटी एक्सप्रेस, अहिल्यानगरी एक्सप्रेस, अवंतिका एक्सप्रेस, क्षिप्रा एक्सप्रेस, नर्मदा एक्सप्रेस, पेंचवैली एक्सप्रेस, उज्जयिनी एक्सप्रेस आदि शामिल हैं।

सेवा 15 से 20 दिनों के भीतर आरंभ


सबकुछ ठीक रहा तो यह सेवा 15 से 20 दिनों के भीतर आरंभ हो जाएगी। यह परीक्षण अगर सफल हुआ तो मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, जम्मू, श्री वैष्णोदेवी धाम कटरा, हरिद्वार, देहरादून आदि स्थानों पर इस योजना को शुरू किया जाएगा। खास बात यह है कि इस कदम से यात्रियों की सुविधा के साथ रेलवे को भी प्रतिवर्ष लगभग 20 लाख रुपए की आय होगी। इसके साथ ही यात्रियों के बढऩे से करीब 90 लाख रुपए की अतिरिक्त टिकट की बिक्री भी होगी। भारतीय रेलवे ने अपनी नियमित ट्रेनों में यात्रियों के लिए पहली बार इस तरह की सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया है। अभी तक विशेष पर्यटक रेलगाडिय़ों-पैलेस ऑन व्हील्स, महाराजा एक्सप्रेस आदि में स्पा, मसाज आदि की सुविधाएं दी जाती हैं।

तीन स्कीमों के तहत होगी मालिश, दरें निर्धारित

जानकारी के मुताबिक सिर एवं पैर की मालिश के लिए गोल्ड स्कीम में सौ रुपए, डायमंड स्कीम में 200 (दो सौ रुपए) एवं प्लेटिनम स्कीम में 300 (तीन सौ रुपए) की दरें निर्धारित की गयी है। गोल्ड स्कीम में मालिश करने वाला 15 से 20 मिनट तक जैतून या कम चिपचिपे तेल से मालिश करेगा जबकि डायमंड एवं प्लेटिनम स्कीमों में तेल के साथ क्रीम एवं वाइप्स के साथ मालिश की जाएगी। ट्रेन के हर कोच में स्टीकर द्वारा मसाजर के नंबर प्रदर्शित किये जाएंगे।

किराए के अलावा दूसरी चीजों से धन जुटाएगी रेलवे : DIP

रेलवे बोर्ड के निदेशक (सूचना एवं प्रचार) राजेश बाजपेई की माने तो ऐसा पहली बार है जबकि इस तरह का कोई कॉन्ट्रैक्ट साइन किया गया है। बात करें कीमत की तो हर बार फुट मसाज और हेड मसाज के लिए 100 रुपये देने होंगे। यह स्कीम रेलवे की उस स्कीम का हिस्सा है, जिसमें सभी जोन और डिविजनों से नए और इनोवेटिव आइडिया देने को कहा गया था, ताकि किराए के अतिरिक्त दूसरी चीजों से रेवेन्यू जेनरेट हो सके।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *